अब मोबाइल से होगी इमारतों की 3डी मैपिंग..!

Written By:

स्विट्जरलैंड के वैज्ञानिकों ने एक नया सॉफ्टवेयर बनाया है जिससे किसी इमारत की 3डी मैपिंग मोबाइल फोन या टैबलेट से की जा सकती है। ईटीएच ज्यूरिक के विजुअल कंप्यूटिंग संस्थान के शोधछात्र थॉमस स्कोप्स और उनके दल ने इस सॉफ्टवेयर का विकास किया है।

अब मोबाइल से होगी इमारतों की 3डी मैपिंग..!

यह सॉफ्टवेयर वर्तमान में उपलब्ध सॉफ्टवेयरों से कई मायनों में अच्छा है। उदाहरण के लिए इसे दिन की रोशनी में प्रयोग किया जा सकता है। जबकि बाकी सॉफ्टवेयरों से रात में ही 3डी मैपिंग संभव है।

वाई-फाई चोरी करने वालों का ऐसे लगाएं पता और करें ब्लाक..!

स्कोप्स ने इस सॉफ्टवेयर का विकास इंफरेमेटिक्स के प्रोफेसर मार्क पोलेफेस के नेतृत्व में शोधकर्ताओं के दल के साथ मिलकर किया। यह शोध गूगल के टैंगो परियोजना के तहत किया गया जिसे कंपनी दुनिया भर के 40 विश्वविद्यालयों में चला रही है और ईटीएच जुरिच भी उनमें से एक है।

अब मोबाइल से होगी इमारतों की 3डी मैपिंग..!

फोटो सोर्स phys.org

यह नया सॉफ्टवेयर दो तस्वीरों के विश्लेषण के आधार पर 3डी मैपिंग करता है जबकि बाकी तकनीक में इंफ्रारेड किरणों की मदद से यह काम किया जाता है।

स्कोप्स ने बताया कि यह तकनीक फिलहाल विकास के चरण में है और इसका इस्तेमाल शुरू करने में अभी वक्त लगेगा।

घर बैठे अपने वोटर आईडी में करवाएं करेक्शन..!

इस तकनीक की खास बात यह है कि भविष्य में इसे कारों में भी लगाया जा सकेगा। इससे सड़क के किनारों या पार्किंग में कितनी जगह खाली है इसका सटीक अंदाजा लगाया जा सकेगा।

ये भी पढ़ें : 599 से भी कम में मिल रहे हैं ये 8 बेस्ट वायरलेस स्पीकर्स और माउस

15,000 से भी कम में उपलब्ध हैं ये शानदार कैमरे वाले स्मार्टफोन..!

इन शानदार फोन पर है 50प्रतिशत तक का डिस्काउंट..!

English summary
Now we can do 3D mapping of buildings with mobile. Switzerland's scientists has developed one software which make this happen soon.
Please Wait while comments are loading...
 EC bars 'Pappu': 'पप्पू' के इस्तेमाल पर लगी रोक तो परेश रावल को सूझी मसखरी,  लोगों के कहा PD लिख दो...
EC bars 'Pappu': 'पप्पू' के इस्तेमाल पर लगी रोक तो परेश रावल को सूझी मसखरी, लोगों के कहा PD लिख दो...
Pradyuman Murder Case: शक के दायरे से बाहर नहीं कंडक्‍टर अशोक, नहीं मिली बेल
Pradyuman Murder Case: शक के दायरे से बाहर नहीं कंडक्‍टर अशोक, नहीं मिली बेल
Opinion Poll

Social Counting