अब पांच नहीं एक साल की नौकरी पर भी मिल सकेगी ग्रेच्युटी

|

अगर आप किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते हैं तो आपके लिए ख़ुशख़बरी है क्योंकि केंद्र सरकार सोशल सिक्योरिटी एंड ग्रेच्युटी नियमों में बदलाव करने जा रही है। उम्मीद है कि संसद के शीतकालीन सत्र में संशोधन बिल लाया जाएगा।

अब पांच नहीं एक साल की नौकरी पर भी मिल सकेगी ग्रेच्युटी

 

क्या होगा बदलाव?

आप सभी जानते हैं कि किसी भी कर्मचारी की सैलरी से पीएफ और ग्रेच्युटी की रकम इकट्ठी होती है। ग्रेच्युटी की रकम काफी अहम मानी जाती है जो किसी भी कर्मचारी को किसी कंपनी में लगातार पांच साल तक नौकरी करने पर मिलती है। नरेंद्र मोदी सरकार इस लिमिट को कम करके एक साल तक करने की तैयारी कर रही है।

यह भी पढ़ें:- SMS से चेक करें कितना PF जमा है

वर्तमान ग्रेच्युटी नियमों के मुताबिक अगर कोई एम्प्लॉयी पांच से पहले नौकरी बदल लेता है तो उसे ग्रेच्युटी नहीं दी जाती। लेकिन नियमों में बदलाव के बाद एक साल बाद नौकरी बदलने वाले कर्मचारियों को भी काफी राहत मिलेगी।

क्या है ग्रेच्युटी?

रिटायरमेंट बेनिफिट्स

फिलहाल, इसकी अवधि पांच साल है यानि पांच साल तक किसी कंपनी में अपनी सेवा देने वाले कर्मचारी को ये रकम दी जाती है। इसके अलावा कुछ अन्य स्थिति में भी ग्रेच्युटी दी जाती है जैसे अगर किसी इम्पलॉई की मौत हो जाए। बता दें कि ग्रेच्युटी की अधिकतम सीमा 20 लाख रुपए है।

यह भी पढ़ें:- Online FIR घर बैठे कैसे रजिस्टर करें...?

ग्रेच्युटी की कैल्कुलेशन

जानकारी हो कि ग्रेच्युटी की कैल्कुलेशन दो तरीके से की जाती है। पहला, आपकी सैलरी के आधार पर और दूसरा, आपकी सेवा अवधि के आधार पर। ग्रेच्युटी का फॉर्मूला है (15Xअंतिम बेसिक सैलरीXकामकाज के साल) भाग 26।

मान लीजिए आपकी बेसिक सैलरी (मंहगाई भत्ता शामिल) 30,000 है और आपने किसी कंपनी में 5 साल नौकरी की है तो आपकी ग्रेच्युटी की रकम होगी-

 

(15X30,000X5)/26 = 86 हज़ार 539 रूपए

स्मार्टफोन्स की दुनिया में आने वाली तमाम अपडेट्स और नए स्मार्टफोन्स के बारे में जानने के लिए हिंदी गिज़बॉट के साथ जुड़े रहें। इसके अलावा आप भी तमाम टेक्नोलॉजी की दुनिया में होने वाली सभी हलचल को भी आप हमारे वेबसाइट के जरिए जान सकते हैं। इसके अलावा आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक करके भी तमाम ख़बरों को अपने मोबाइल में पा सकते हैं। आप हमारे हेलो अकाउंट के जरिए भी जुड़ सकते हैं।

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

English summary
You all know that PF and Gratuity are collected from the salary of any employee. The amount of gratuity is considered to be very important which any employee gets for five consecutive years in a company. The Narendra Modi government is preparing to reduce this limit to one year.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X