आरबीआई ने 2000 रूपए तक के लेनदेन के लिए 2FA मानदंडो में दी राहत

Written By:

    भारतीय रिजर्व बैंक ने 2000 रूपए तक के भुगतान के लिए प्रमाणाीकरण के अतिरिक्‍त कारकों (एएफए) हेतू नियमों में छूट दे दी है। नए नियमों के तहत, सिर्फ अधिकृत कार्ड नेटवर्क ही बैंकों के द्वारा दिए जारी किए जाने वाले कार्ड की भागीदारी के साथ ऐसे भुगतान प्रमाणीकरण समाधान प्रदान करेगा।

    आरबीआई ने 2000 रूपए तक के लेनदेन के लिए 2FA मानदंडो में दी राहत

    मुद्रीकरण : अब टेक्‍सी में मिलेंगे कैश नोट

    इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि आरबीआई ने इस कदम को उठाकर किस प्रकार भारतीय जनता को छोटे निवेश के लिए बढ़ावा दिया है।

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    कैशलेस होने के लिए छोटे लेनदेन के लिए सरलीकृत प्रक्रिया

    जैसाकि हमने उल्‍लेखित किया है कि आरबीआई द्वारा उठाया गया ये नया कदम देश में छोटे वैल्‍यू ट्रांसजेक्‍शन को बूस्‍ट करेगा, और नागरिकों को ट्रांसजेक्‍शन करने के लिए अतिरिक्‍त प्रक्रिया के माध्‍यम से नहीं गुजरना होगा, अगर वो सिर्फ 2000 रूपए का लेन-देन करते हैं। ऐसा करने से समय की बचत होगी और दिक्‍कतें भी कम हो जाएगी। यह कदम, भारत को डिजीटल देश बनाने के लिए किया जा रहा है।

    नए स्मार्टफोन की बेस्ट ऑनलाइन डील्स के लिए यहाँ क्लिक करें

    Card Not Present (CNP) लेनदेन के लिए सक्षम

    आरबीआई के अनुसार, ऐसे समाधान के अंतर्गत एएफए के लिए राहत, Card Not Present (CNP) लेनदेन के लिए भी लागू होगी, अगर लेनदेन 2000 रूपए तक का किया जाता है और ये सभी व्‍यापारी श्रेणियों में लागू होगा। बैंक और कार्ड नेटवर्क, लेनदेन की सीमा के हिसाब को निर्धारित करने के लिए अपने ग्राहकों की सुविधा हेतू मुफ्त हैं।

    वन टाइम रजिस्‍ट्रेशन प्रक्रिया

    इसके तहत ग्राहकों को ओटीपी भरना होगा। जी हां, जब भी ग्राहक कार्ड के विवरण को भरेंगे तो उनके रजिस्‍टर्ड नम्‍बर पर एक पासवर्ड आएगा, जिसे उन्‍हें भरना होगा और इस पासवर्ड को एएफए के द्वारा जारी किया जाएगा। रजिस्‍ट्रेशन के बाद, ग्राहक को दुबारा से कार्ड का विवरण भरने की जरूरत नहीं रह जाएगी और हर लेनदेन के लिए व्‍यापारिक स्‍थल पर उसी विवरण से काम चल जाएगा। इससे समय की काफी बचत होगी।

    अधिकृत कार्ड नेटवर्क के लिए लिमिटेड योजना

    आरबीआई ने यह स्‍पष्‍ट कर दिया है कि सिर्फ अधिकृत कार्ड नेटवर्क ही बैंक के द्वारा कार्ड जारी और प्राप्तिकरण के साथ भुगतान प्रमाणीकरण समाधान को प्रदान कर पाएंगे। मास्‍टरकार्ड, मास्‍टरपास के रूप में भुगतान प्रमाणाीकरण सल्‍यूशन देगा जबकि वीसा, वीसा चेकआउट के द्वारा समान ऑफर देगा।

    सुरक्षा के लिए क्‍या किया जाएगा

    इस योजना में सुरक्षा का विशेष ध्‍यान रखा गया है और दो फैक्‍टर प्रमाणीकरण के साथ सुरक्षित लेन-देन को करने का प्रावधान बनाया गया। इससे ग्राहक की बैंक डिटेल को किसी प्रकार का कोई खतरा नहीं होगा, न ही कोई धोखाधड़ी हो पाएगी। साथ ही बैंक भी अपने कर्मचारियों को इस बारे में जानकारी देगा कि उन्‍हें किस प्रकार इसका इस्‍तेमाल करना चाहिए और इस दौरान किन-किन सावधानियों को बरतना चाहिए।

    नए स्मार्टफोन की बेस्ट ऑनलाइन डील्स के लिए यहाँ क्लिक करें


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    English summary
    The Reserve Bank of India (RBI) has relaxed norms for additional factor of authentication (AFA) for payments up to Rs 2,000 for online card not present (CNP) transactions.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more