23 साल की उम्र में किया कमाल, मार्क जुकरबर्ग के साथ देखेगी पूरी दुनिंया

Posted By:

बार्सिलोना (स्पेन) में 24 फरवरी से 27 तक आयोजित होने वाले प्रतिष्ठित वल्र्ड मोबाइल कांग्रेस में कोच्चि स्थित मोबाइल इंटरनेट टेक्नोलॉजी इनक्यूबेटर के एक इन्नोवेटर और उद्यमी को सबसे कम उम्र का वक्ता होने का सम्मान हासिल होगा। स्टार्टअप गांव के लिए भी यह एक बड़ा सम्मान होगा। स्टार्टअप विलेज में खड़ी हुई रोबोटिक्स स्टार्टअप कंपनी आरएचएल विजन टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक और सीईओ 23 वर्षीय रोहिलदेव एन. इस आयोजन में फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग और आईबीएम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वर्जीनिया रोमेटी के साथ एक मंच पर होंगे। रोहिलदेव ने कहा, "यह आरएचएल विजन टीम के लिए एक महत्वपूर्ण क्षण है। मुझे उम्मीद है कि इस विश्व स्तरीय आयोजन को संबोधित करने के लिए निमंत्रण मिलना 'फिन' का वैश्विक स्टार्टअप परि²श्य में अपनी पहचान स्थापित करने के कारण भी संभव हुआ है।

पढ़ें: 

आरएचएल विजन की स्मार्ट अंगूठी 'फिन' दुनिया भर में चर्चा में है। इसे ऊंगली में पहनकर कई उपकरणों को इशारों से चलाया जा सकता है। आरएचएल ने 45 दिनों में एक लाख डॉलर जुटाने के लक्ष्य के साथ बाजार में फिन को लाने के लिए क्राउडफंडिग मंच एंडियेगोगो पर एक अभियान चला रहा है। कंपनी 61,047 डॉलर जुटा चुकी है। टीम को निर्धारित समय सीमा के भीतर लक्ष्य को पूरा करने की उम्मीद है।

पढ़ें: अगर पॉकेट में पैसे कम हैं तो खरीदिए 10,000 रुपए के अंदर ये स्‍मार्टफोन

रोहिलदेव ने कहा, "मैं अपनी सफलता के लिए स्टार्टअप विलेज का आभारी हूं जिसने मेरे विचारों को इनक्यूबेट करने और मेरी कंपनी को प्रसिद्धी दिलाने के लिए एक मंच प्रदान किया।केरल में एक मध्यम वर्गीय परिवार में जन्मे, रोहिलदेव राज्य के तेजी से आगे बढ़ रहे वैसे युवा उद्यमियों के वर्ग का प्रतिनिधित्व करते हैं, जो कॉलेज परिसर से ही अपनी कंपनियों को शुरू करने का बड़ा सपना देख रहे हैं। अपने करीबी मित्रों को शामिल कर बनाई गई आरएचएल विजन की टीम ने रोमांचक, स्पर्श रहित प्रौद्योगिकी के साथ अपनी शुरुआत की और देश भर में और विदेशों से ख्याति प्राप्त की।

पढ़ें: ये है फेक आईफोन 6 जो इंटरनेट पर मचा रहा है धमाल

23 साल की उम्र में किया कमाल, मार्क जुकरबर्ग के साथ देखेगी पूरी दुनिंया

पढ़ें: ये लैपटॉप बैटरी से नहीं पानी से चार्ज होता है

आरएचएल लास वेगास में टेक क्रंच सीईएस हार्डवेयर बैटलफील्ड में शीर्ष 15 कंपनियों में से एक थी और यह ऑस्ट्रिया में पायनियर्स महोत्सव के लिए चयनित होने वाली एकमात्र भारतीय स्टार्टअप कंपनी थी। यह माइक्रोसॉट बिज स्पार्क इंडिया स्टार्टअप चैलेंज 2013 में दूसरी उपविजेता कंपनी भी थी।इसके अध्यक्ष संजय विजय कुमार ने कहा, जब रोहिल पहली बार स्टार्टअप गांव में आये थे, तो अन्य छात्रों की तरह ही उनके पास न तो कोई बहुत बड़ी डिग्री थी न ही उनके बहुत अच्छे अंक थे, लेकिन उनकी आंखों में सपनों की चिंगारी थी।

आगामी वल्र्ड मोबाइल कांग्रेस में सबसे कम उम्र के वक्ता के रूप में उनकी भागीदारी ने इस तथ्य को रेखांकित किया है कि सही पारिस्थितिकी तंत्र मिलने पर हमारे भावुक, प्रेरित और महात्वाकांक्षी युवा उद्यमी दुनिया में सबसे अच्छा करने वालों में शामिल हो सकते हैं।"

Please Wait while comments are loading...
नए साल पर किया गया ये छोटा सा काम, देगा साल भर की खुशियां
नए साल पर किया गया ये छोटा सा काम, देगा साल भर की खुशियां
Gujarat Assembly Election 2017: गुजरात में 6 बूथों पर दोबारा मतदान , जिग्नेश मेवाणी ने कहा-एग्जिट पोल बकवास है
Gujarat Assembly Election 2017: गुजरात में 6 बूथों पर दोबारा मतदान , जिग्नेश मेवाणी ने कहा-एग्जिट पोल बकवास है
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot