नासा का खुलासा 2 साल पहले आई तबाही से बाल-बाल बची पृथ्वी

By Rahul
|

राष्ट्रीय वैमानिकी एवं अंतरिक्ष प्रशासन (नासा) ने एक सनसनीखेज रहस्योद्धाटन करते हुए कहा है कि 23 जुलाई 2012 को सूर्य पर आई एक शक्तिशाली सौर आंधी के दौरान विशाल सोलर फ्लेयर (सौर ऊर्जा की बहुत बड़ी मात्रा) या कोरोनल मास इजेक्शन (सीएमई) की टक्कर से पृथ्वी बच गई। 150 सालों के दौरान यह सबसे बड़ी सौर आंधी मानी जा रही है। अमेरिका के कोलराडो विश्वविद्यालय के डैनियल बेकर ने कहा, "यदि ऐसा हुआ होता, तो हम अबतक टुकड़े चुन रहे होते।

 

पढ़ें: टॉप 10 ब्‍लैकबेरी जेड 10 हॉट डील्‍स

न्यूयॉर्क पोस्ट की रपट के मुताबिक, "एक ऐसी आपदा से बचने में हम भाग्यशाली रहे, जो बिल्कुल हमारे सिर पर थी। सूर्य का रुख पृथ्वी से थोड़ा सा हटने के कारण ही ऐसा संभव हो पाया। अगर ऐसा एक सप्ताह पहले हुआ होता, तो परिणाम कुछ और ही होता। उत्क्षेपण (इजेक्शन) इतना शक्तिशाली था कि हम फिर से आदिम युग में पहुंच गए होते।

पढें: ब्‍लैकबेरी 6,000 रुपए कम कीमत में दे रहा है स्‍मार्टफोन

नासा का खुलासा 2 साल पहले आई तबाही से बाल-बाल बची पृथ्वी

वैज्ञानिकों ने कहा कि प्रत्यक्ष सीएमई में इतनी ताकत होती है कि वह संचार के तमाम नेटवर्क, जीपीएस और विद्युत ग्रिड खत्म कर सकता है, जिसके कारण चहुंओर अंधेरा छा जाता। बार्कर कहते हैं, "पृथ्वी और इसके निवासी इस बात के लिए खुशकिस्मत हैं कि 2012 का उत्क्षेपण एक सप्ताह पहले नहीं हुआ।

 
Best Mobiles in India

English summary
A recent revelation by NASA explains how on July 23, 2012, Earth had a near miss with a solar flare, or coronal mass ejection (CME), from the most powerful storm on the sun in over 150 years, but nobody decided to mention it.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X