टेलिकॉम कमिशन ने स्पेक्ट्रम होल्डिंग लिमिट को बढ़ाने की मंजूरी दी

By: Anoop Kumar Singh

टेलिकॉम कमीशन ने मंगलवार को स्पेक्ट्रम होल्डिंग लिमिट बढ़ाए जाने की ट्राई की सिफारिशों को मंजूरी दे दी। इससे दिक्कतों से जूझ रही कंपनियों को सेक्टर से बाहर निकलने का रास्ता आसान हो जाएगा।

टेलिकॉम कमिशन ने स्पेक्ट्रम होल्डिंग लिमिट को बढ़ाने की मंजूरी दी

पिछले साल नवंबर में ट्राई ने एक विशेष बैंड के भीतर मोबाइल आपरेटर्स के लिए स्पेक्ट्रम सीमा हटाने का प्रस्ताव दिया था जबकि 700 मेगाहर्ट्ज और 800 मेगाहर्टज और 900 मेगाहर्टज जैसे इफिशिएंट बैड में कंबाइंड रेडियो वेब 50 प्रतिशत कैप लगाने का सुझाव दिया था।

ट्राई ने स्पेक्ट्रम होल्डिंग पर मौजूदा कैप 25 प्रतिशत से बढ़ाकर 35 प्रतिशत करने का भी सुझाव दिया है।

पहले ट्राई ने कहा था कि कुछ स्टेकहोल्डर इंट्राबैंड स्पेक्ट्रम कैप को हटाने के पक्ष में थे। वहीं दूसरी ओर कुछ स्टेक होल्डर ने इंट्राबैंड स्पेक्ट्रम कैप को बनाए रखने की वकालत की थी।

iVoomi i1 firt impression (Hindi)

शाओमी ने 449 रुपए में भारत में लॉन्च किया क्विक चार्जर

मौजूदा नियम के अनुसार कोई भी मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर एक क्षेत्र के लिए आवंटित स्पेक्ट्रम का 25 प्रतिशत तथा किसी विशेष बैंड के स्पेक्ट्रम के 50 प्रतिशत से ज्यादा नहीं रख सकता है।

अंतर मत्रालय समिति ने टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स के लिए लागू स्पेक्ट्रम कैप की समीक्षा की।

आईएमजी रिपोर्ट में टेलिकॉम अथॉरिटी ने 29 सितंबर, 2017 के अपने पत्र के जरिए ट्राई से स्पेक्ट्रम कैप पर सुझाव मांगा था। टेलीकॉम कमिशन ने नीलामी में खरीदे गए स्पेक्ट्रम के भुगतान के लिये समय अवधि मौजूदा 10 साल से बढ़ाकर 16 साल करने को भी मंजूरी दे दी है।

Read more about:
English summary
The TRAI has also suggested that the overall cap on holding spectrum should be raised from the current 25 percent to 35 percent.
Please Wait while comments are loading...
पटरी से उतरी गोंडवाना एक्सप्रेस, कोई हताहत नहीं
पटरी से उतरी गोंडवाना एक्सप्रेस, कोई हताहत नहीं
दिल्ली के  बवाना में आग लगने के बाद भाजपा-आप के बीच राजनीतिक जंग
दिल्ली के बवाना में आग लगने के बाद भाजपा-आप के बीच राजनीतिक जंग
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot