WhatsApp पोर्न ग्रुप में महिला को ऐड करने पर पुलिस ने एडमिन को किया गिरफ्तार

    व्हाट्सएप काफी पुराना और सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला ऐप है। जिसे लगभग हर दिन इस्तेमाल किया जाता है। वैसे तो व्हाट्सएप को लेकर कई खबरें सामने आती रहती हैं, लेकिन इस बार कुछ अलग ही मामला सामने आया है। बता दें, गुरुवार को मुंबई में एक व्हाट्सएप के एक ग्रुप एडमिन को गिरफ्तार कर लिया गया।

    WhatsApp पोर्न ग्रुप में महिला को ऐड करने पर पुलिस ने एडमिन को किया गिरफ्तार

     

    एडमिन पर आरोप था कि उसने महिला का मोबाइल नंबर व्हाट्सएप ग्रुप एक एड कर दिया था। यह व्हाट्सएप ग्रुप पोर्नोग्राफी (अश्लील) कंटेंट शेयर करता था। बता दें, इस शख्स ने बिना महिला की मंजूरी के उसके मोबाइल नंबर को व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ लिया था, जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है। 24 साल का आरोपित व्यक्ति मुश्ताक अली शेख पश्चिम बंगाल का रहने वाला है, जिसे पुलिस ने आईपीसी सेक्शन और आईटी एक्ट के तहत गिरफ्तार किया है।

    क्या था मामला

    TOI की रिपोर्ट के अनुसार Matunga पुलिस ने आरोपी शख्स की गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि यह मामला उन सभी व्हाट्सएप ग्रुप एडमिन के लिए सबक है जिन्हें पता होना चाहिए कि किसी की इजाजत के बिना वह किसी को भी ग्रुप में जोड़ नहीं सकते हैं। इसके अलावा ग्रुप एडमिन को यह पता होना चाहिए कि ग्रुप में क्या पोस्ट किया जाना चाहिए या नहीं।

    यह भी पढ़ें:- भारत में इंटरनेट सस्ता होने के बाद 75% बढ़ी पॉर्न व्यूअरशिप

    वहीं इनवेस्टिगेट ऑफिसर Maruti Shelke ने बयान देते हुए कहा कि महिला हाउसवाइफ की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है। महिला ने बताया कि महिला को सितंबर महीने में 'Triple XXX' ग्रुप में बिना इजाजत के जोड़ लिया गया था। शुरुआत में इस महिला को लगा कि किसी ने उसके साथ मजाक किया है लेकिन कुछ दिनों बाद पोर्नोग्राफी फोटो और वीडियो ग्रुप में बढ़ती चली गई।

    यह भी पढ़ें:- Jio के बाद अब Airtel और Voda ने भी पोर्न साइट्स को किया बैन

     

    महिला ने पुलिस को बताया कि जब उसने ग्रुप के एडमिन और 12 और लोगों को देखा तो उन्हें पता चला कि कोई भी उसका दोस्त नहीं हैं। इसके बाद उस महिला ने जिसके बाद महिला ने परेशान होकर इस बात की शिकायत दर्ज कराई।

    English summary
    A group of WHATSAP Group Administrator was arrested on Thursday in Mumbai. The administration was accused of having given the woman's mobile number Whatsap Group an ed. This WhatsApp group shared pornography (obscene) content. Please tell, this person had added her mobile number to Whitspeap Group without the approval of a woman.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more