इलेक्ट्रिक स्कूटर के बारे में आप नहीं जानते होंगे ये इंटरेस्टिंग फैक्ट्स..!

Written By:

    भारत विश्व के सबसे बड़े एनर्जी कंज्यूमर्स में गिना जाता है। आंकड़ों पर नजर डालें तो भारत चाइना, यूनाइटेड स्टेट्स और रूस के बाद चौथे नंबर पर आता है। भारत चौथा सबसे बड़ा आयल इम्पोर्टर है और पेट्रोलियम प्रोडक्ट व एलएनजी में भारत का स्थान 15वें नंबर पर है।

    वाई-फाई चोरी करने वालों का ऐसे लगाएं पता और करें ब्लाक..!

    हालांकि ये सभी एनर्जी के सोर्स वातावरण को काफी हानि पहुंचा रहे हैं। दिल्ली, मुंबई जैसे कुछ शहर पहले ही प्रदुषण से झूझ रहे हैं। प्रदुषण की इस बड़ी और गम्भीर समस्या से निपटने के लिए भारत सरकार कई कदम उठा रही है। सरकार की ओर से इलेक्ट्रिक स्कूटर के प्रयोग को महत्व और बढ़ावा दिया जा रहा है।

    किसी और का व्हाट्सएप अकाउंट हैक करना है, फॉलो करें ये आसान स्टेप्स..!

    सरकार की इलेक्ट्रिक वाहनों जैसे इलेक्ट्रिक स्कूटर व इलेक्ट्रिक कार्स पर ग्रीन सब्सिडी इसी दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। आइए जानते हैं इलेक्ट्रिक स्कूटर से जुड़ी कुछ जरुरी बातें-

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    1- द नेशनल इलेक्ट्रिक मोबिलिटी मिशन प्लान (एनईएमएमपी 2020)

    एनईएमएमपी भारत सरकार के द्वारा इलेक्ट्रिक वाहनों का अधिक से अधिक प्रयोग व उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू किया गया था। इस प्लान का मिशन था कि वातावरण को कम से कम हानि हो और प्रदूषण कम हो सके।

    2- कम बैटरी लाइफ और स्पीड

    शुरुआत में लॉन्च हुए इलेक्ट्रिक स्कूटर्स आदि को ध्यान में रखते हुए भारत में अब एक सोच बन गयी है कि इन स्कूटर व कार की बैटरी लाइफ भी कम होती है और उनकी स्पीड भी अधिक नहीं हो सकती है। इस कारण देश में लोग इन स्कूटर/कार को अपनाने में हिचकिचाते हैं।
    जबकि ई स्कूटर में सील्ड लीड स्किड बैटरी होती है जो कि 12-15 महीने तक बिना किसी परेशानी के चल सकती है।

    3-न लाइसेंस, न रजिस्ट्रेशन!

    भारत में जिन स्कूटर की स्पीड 25किमी/ घंटा है उन्हें रजिस्ट्रेशन की कोई भी आवश्यकता नहीं है। जबकि यह मोटरबाइक की श्रेणी में भी नहीं आते हैं तो इनको चलने के लिए लाइसेंस की जरुरत नहीं है।

    4-कीमती हैं ये इलेक्ट्रिक स्कूटर!

    कई लोगों का मानना है कि यह स्कूटर काफी महंगे होते हैं, यह केवल एक मिथ है। जबकि असल में ये स्कूटर अन्य स्कूटर की अपेक्षा काफी सस्ते होते हैं। इनकी कीमत 30,000 से 50,000 रुपए तक के बीच होती है।

    5-असेंबली हब

    भारत में मौजूद कई इलेक्ट्रिक स्कूटर का निर्माण यहाँ नहीं होता है। बल्कि चाइना में इन स्कूटर के पार्ट्स का निर्माण किया जाता है। जबकि भारत में इन पार्ट्स को अस्सेम्ब्ले किया जाता है।

    6-एडवांस टेक्नोलॉजी

    नई-ऐज के स्टार्टअप्स इलेक्ट्रिक स्कूटर में टेक्नोलॉजी के डेवलपमेंट पर अधिक फोकस कर रहे हैं। जल्द ही इन स्कूटर में स्मार्टफोन कनेक्टिविटी, डिफरेंट ड्राइव मोड्स व नेविगेशन जैसे फीचर्स दिए जाएंगे।

    अन्य टेक खबरें

    घर बैठे अपने वोटर आईडी में करवाएं करेक्शन..!

    इन बातों से सबक लें सेल्फी के शौक़ीन, दिल देहला देंगी ये घटनाएं..!

    किसी और का व्हाट्सएप अकाउंट हैक करना है, फॉलो करें ये आसान स्टेप्स..!

    गिज़बॉट हिंदी

    अन्य टेक ख़बरों के लिए पढ़ते रहे गिज़बॉट हिंदी व हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें 


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    Read more about:
    English summary
    India is one of the largest consumer of Energy. But these energies are not so good for environment. As so many cities are suffering from pollution. so we should start the use of electric scooters. Things one should know about electric scooters in India.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more