दुनिया की 10 बेस्‍ट बुक सेलिंग वेबसाइटें

Posted By:

इंटरनेट ने सिर्फ सूचना एवं ज्ञान के क्षेत्र में ही मानव सभ्यता को प्रभावित नहीं किया है, बल्कि हमारी कई रोजमर्रा की आदतों में भी इंटरनेट सुविधाएं घुसपैठ कर चुकी हैं। खरीदारी के हमारे अनुभव को भी इंटरनेट ने काफी बदल दिया है। उसमें भी पुस्तकें खरीदना तो इंटरनेट के जरिए इतना सहज हो गया है कि आप घर बैठे न सिर्फ दुनिया के हर कोने से अपनी पसंदीदा पुस्तकें मंगा सकते हैं, बल्कि उनकी कीमत पर भारी छूट भी प्राप्त कर सकते हैं।

इंटरनेट पर ऑनलाइन खरीदारी की सुविधा प्रदान करने वाली अनेक वेबसाइटें आ चुकी हैं और उनमें कुछ की सेवा बहुत ही तेज और उम्दा है। वेबसाइट वर्ल्डटॉप10 डॉट नेट पर दुनिया की ऐसी ही शीर्ष 10 पुस्तक विक्रेता वेबसाइटों का उल्लेख है।

आइए जानते हैं दुनिया की कुछ पॉपुलर बुक सेलिंग वेबसाइटों के बारे में

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

अमेजन ऑनलाइन खुदरा बिक्री के लिए पुस्तकों का दुनिया का सबसे बड़ा स्टोर है। जेफ बेजोस ने जुलाई 1994 में इसकी शुरुआत की। दुनिया की शुरुआती पुस्तक बिक्री

कनाडा की यह कंपनी 'इंडिगो बुक्स एंड म्यूजिक' की किताबों की दुकानों की बड़ी श्रृंखला है। इंडिगो ने 2001 में अपनी प्रतिद्वंदी कंपनी चैप्टर्स और बाद में कोलस को खरीद लिया। कुछ वर्षो के बाद चैप्टर्स ने ऑनलाइन पुस्तक बिक्री के लिए अपनी वेबसाइट शुरू की और आज दुनिया के अग्रणी पुस्तक विक्रेता वेबसाइटों में से एक है।

यह अमेरिका के बड़े खुदरा पुस्तक विक्रय क्रेंद्रों में से एक है। इसकी शुरुआत 19वीं सदी में चार्ल्स एम. बारनेस, विलियम बारनेस और सी. क्लिफोर्ड नोबल ने की थी। इसका मुख्यालय मैनहट्टन में है। इस वेबसाइट पर पर हर तरह की किताबें उपलब्ध हैं, जिन्हें कभी भी और दुनिया के किसी भी हिस्से से खरीदा जा सकता है।

एबे बुक्स दुनिया के सबसे बड़े ऑनलाइन पुस्तक विक्रय केंद्रों में से एक है। यह वेबसाइट पुरानी (सेकेंड हैंड) पुस्तकों की बिक्री की सुविधा भी प्रदान करता है, जो सामान्य तौर पर ऑनलाइन बिक्री करने वाली वेबसाइटों पर नहीं होता। पुस्तक प्रेमी किताबों के लिए अपनी कीमतें भी पोस्ट कर सकते हैं।

80 के दशक के शुरुआत में मैकनेली रॉबिनसन पुस्तक बिक्री के क्षेत्र में जाना माना नाम था। कंपनी की मनीटोबा, न्यूयॉर्क और सास्केचवान में तील अलग-अलग दुकानें थी। कंपनी पर एक परिवार का स्वामित्व है और वेबसाइट शुरू होने के बाद ऑनलाइन पुस्तक खरीदने वालों के बीच यह काफी लोकप्रिय हो चुका है।

आस्ट्रेलिया की ऑनलाइन पुस्तक खरीदारी सुविधा प्रदान करने वाली यह कंपनी 130 वर्षो से ज्यादा समय से बाजार में है। ऑस्ट्रेलिया में इसकी 70 से ज्यादा और न्यूजीलैंड में सात दुकानें हैं। कंपनी ने हांगकांग में बाद में 13 दुकानें शुरू कीं। 'एंगुस एंड रॉबिनसन' के बाद डाइमोक्स 2007 तक ऑस्ट्रेलिया की दूसरी सबसे बड़ी पुस्तक विक्रय केंद्र श्रृंखला बन चुकी थी। कंपनी ने लगभग छह वर्ष पहले अपनी वेबसाइट शुरू की तथा हाल ही में डाइमोक्स ने ई-बुक की सुविधा भी शुरू की है।

यह स्टोर भारत में रहने वाले लोगों के लिए एकदम उपयुक्त है। यह दुकान बच्चों और परिवारों से बातचीत के लिए लेखकों और कवियों को आमंत्रित करती है। इसमें बच्चों के लिए अच्छी पुस्तकें हैं। इसकी वेबसाइट काफी सरल है।

हाफ प्राइस बुक्स की स्थापना अमेरिका के केन गजेमरे और पैट एंडसन ने की थी। यह नई पुस्तकों के साथ-साथ पुरानी किताबें भी बेचती है। किसी एक परिवार के स्वामित्व वाली सबसे बड़ी इस अमेरिकी कंपनी की अमेरिका के 15 अलग-अलग राज्यो में 100 से अधिक दुकानें हैं। इस पुस्तक विक्रय केंद्र की वेबसाइट से पुस्तकें खरीदने के लिए उपभोक्ता को अपना खाता बनाना होता है। इसके बाद उपभोक्ता ऑनलाइन किताबें खरीद सकता है।

यह दक्षिण कोरिया की सबसे बड़ी किताब की दुकान है। दक्षिण कोरिया के सात अलग शहरों में इसकी 10 से ज्यादा दुकानें है। इसकी मुख्य दुकान सियोल में क्योबो की इमारत में भूतल पर स्थित है। इसके वेबपेज पर हर हफ्ते एक हजार से ज्यादा लोग पुस्तकों के बारे में जानने और खरीदने आते हैं।

यह अमेरिका में किताबों की दुकानों की एक श्रृंखला है। यह रीजेंट कॉलेज और दुनिया भर के लोगों को धर्मविज्ञान से संबंधित हर तरह की किताबें उपलब्ध कराता है हालांकि इसकी एक ही खुदरा दुकान है, लेकिन रीजेंट बुकस्टोर का वेबपेज बहुत उपयोगी है। इसके वेबपेज पर जाकर आसानी से किताबें खरीदी जा सकती हैं।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
तमिलनाडु: शंकर मर्डर केस में कोर्ट ने सुनाई 6 लोगों को मौत की सजा
तमिलनाडु: शंकर मर्डर केस में कोर्ट ने सुनाई 6 लोगों को मौत की सजा
'अब कॉन्डोम के विज्ञापन देर रात ही दिखाए जा सकते हैं', सरकार ने निर्धारित किया प्रसारित समय
'अब कॉन्डोम के विज्ञापन देर रात ही दिखाए जा सकते हैं', सरकार ने निर्धारित किया प्रसारित समय
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot