क्‍यों आपके स्‍मार्टफोन में होना चाहिए सिनोजेनमोड, जानिए 10 कारण

Posted By:

    सिनोजेनमोड के बारे में शायद आपमें से काफी कम लोग जानते होंगे, हाल ही में माइक्रोमैक्‍स ने भारत में यू यूरेका नाम से सिनोजेन मोड पर चलने वाला स्‍मार्टफोन लांच किया है। जो कस्‍टम रोम प्‍लेटफार्म पर चलता है। ये 50 से भी ज्‍यादा एंड्रायड डिवाइसेस को सपोर्ट करता है। हाल ही में सिनोजेन मोड को प्रयोग करने वालों की संख्‍या 5 मिलियन पार हुई है। आप सोंच रहे होंगे आखिर सिनोजेन मोड में ऐसा क्‍या खास है जिसकी वजह से इस प्‍लेटफार्म पर चलने वाले स्‍मार्टफोन लेना बेहतर होगा।

    पढ़ें: 10,000 रुपए के 10 बेस्‍ट कैमरा स्‍मार्टफोन हैं ये

    सिनोजेन मोड की अपनी कई खासियते हैं आज हम आपको 10 ऐसी ही खासियतों के बारे में बताएंगे।

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    10. Community

    सिनोजेनमोड के पीछे काम करनी वाली टीम सबसे प्रतिभाशाली डेवलपरों की टीम में से एक हैं जो आपके हर सवाल के जवाब सिनोजेन कम्‍यूनिकटी में देगी। यानी अगर आप अपने फोन में सिनोजेन मोड इंस्‍टॉल करते टाइम कोई दिक्‍कत आती है तो पूरी टीम आपकी मदद करने को हमेशा तैयार रहती है।

    9. Security

    एंड्रायड डिवाइस में बग और दूसरे सॉफ्टवेयर इश्‍यू को सुधारने में काफी वक्‍त लगता है जबकि सिनोजेन मोड की टीम किसी भी डिवाइस की सुरक्षा का पूरा ध्‍यान रखती है। जबकि गूगल अपने अगले वर्जन में ऐसी दिक्‍कतों को दूर करता है।

    8. Using Android the way Google intended it to be

    सिनोजेनमोड में आपको वो हर चीज मिलेगी जो एक एंड्रायड यूजर को चाहिए, कई एंड्रायड यूजरों को स्‍टॉक एंड्रायड के लुक और फील के बारे में पता नहीं होता। सिनोजेन मोड में न सिर्फ यूजर को अच्‍छा एक्‍सपीरियं मिलता है बल्‍कि बिना नेक्‍सस डिवाइस के यूजर नेक्‍कस जैसा अनुभव कर पाता है।

    7. Inbuilt Apps

    स्‍टॉक एंड्रायड में आपको लिड नोटिफिकेशन लाइट, सीपीयू कंट्रोल करने के अलावा कई दूसरे फीचर मिलते हैं मगर सिनोजेन मोड में ये सभी ऑप्‍शन इनबिल्‍ड होते हैं। इसमें यूजर को न सिर्फ आसान इंटरफेज़ मिलता है बल्‍कि थर्ड पार्टी ऐप सपोर्ट भी मिलता है।

    6. Increased Life Span

    गैलेक्‍सी एस तो आपको ध्‍यान ही होगा इसमें कभी भी एंड्रायड 4.0 आईसक्रीम सैंडविच अपडेट नहीं दिया गया क्‍योंकि सैमसंग का कहना था ये हैंडसेट ज्‍यादा पॉवरफुल नहीं है। जबकि नेक्‍सस एस के जैसे फीचर सैमसंग गैलेक्‍सी एस में भी थे। मगर गैलेक्‍सी एस के कई यूजर सीएम 9 और सीएम 10.1 यूज़ कर रहे हैं तो एंड्रायड आईसक्रीम और जैलीबीन के बराबर फीचर देता है।

    5. Latest version of Android

    इसके अलावा यूजर इसमें एंड्रायड का लेटेस्‍ट वर्जन यूज़ कर सकता है। कहने का मतलब है इसमें यूजर को गूगल द्वारा दिए जाने वाले लेटेस्‍ट अपडेट जल्‍दी मिलते हैं।

    4. Usability tweaks

    सिनोजेनमोड एक तरह से स्‍टॉक एंड्रायड के बराबर है मगर जब आप सिनोजेनमोड यूज करेंगे तो आपको स्‍टॉक एंड्रायड में दिए गए फीचर बेकार लगने लगेंगे। जैसे क्‍विक मैसेजिंग ऐप, फोन रिसीव करने के लिए वॉल्‍यूम बटन ऑप्‍शन, वॉयस कंट्रोल के साथ कैमरा ऐप।

    3. New Features

    सिनोजेनमोड में कई नए फीचर आपको मिलेंगे जो रोजमर्रा की लाइफ में काफी काम आते हैं, जैसे लॉक स्‍क्रीन शार्टकट, क्‍विक टूगल नोटिफिकेशन बार, रैम बार, ऑन स्‍क्रीन नैविगेशन बटन।

    2. Customisations

    सिनोजेनमोड की एक और खासबात है कस्‍टमाइजेशन ऑप्‍शन, यूजर इसे अपने हिसाब से कस्‍टमराइज कर सकता है जो आपको स्‍टॉक एंड्रायड में नहीं मिलते। जैसे आप क्‍विक सेटिंग में जाकर फोन स्‍क्रीन टाइल्‍स कस्‍टमराइज कर सकते हैं।

    1. Speed

    स्‍पीड सिनोजेनमोड यूज़ करने का सबसे बड़ा कारण है जो फोन की परफार्मेंस बढ़ाता है। ये वेट में काफी हल्‍का है जिससे हार्डवेयर पर ज्‍यादा भार नहीं पड़ता यानी आपके फोन में हैंग होने के अलावा हीट होने जैसे दूसरी दिक्‍कते नहीं आती।


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    English summary
    If you have been using an Android device for quite sometime, you must have heard about CyanogenMod.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more