ट्विटर में 140 नहीं 10,000 कैरेक्टर मैसेज करने की मिलेगी लिमिट

By Rahul
|

माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने डायरेक्ट मैसेजिंग सेवा पर 140 कैरेक्टर की सीमा हटा ली है और जुलाई से इसके उपयोगकर्ता 10 हजार कैरेक्टर तक वाले डायरेक्ट मैसेज भेज सकेंगे। इस बदलाव का आखिर क्या कारण हो सकता है?

पढ़ें:3 जीबी रैम वाले 10 बेहतरीन एंड्रायड स्‍मार्टफोन

ट्विटर में 140 नहीं 10,000 कैरेक्टर मैसेज करने की मिलेगी लिमिट

 

ह्वाट्सएप और फेसबुक जैसे डायरेक्ट मैसेजिंग प्लेटफार्म की लोकप्रियता के कारण विशेषज्ञ मान रहे हैं कि अपने उपयोगकर्ताओं को बनाए रखने के लिए और बाजार में प्रतियोगी बने रहने के लिए शायद ट्विटर ने ऐसा किया है। गार्टनर के मुख्य शोध विश्लेषक ऋषि तेजपाल ने कहा, "उन्हें उपयोगकर्ताओं से डायरेक्ट मैसेज पर से 140 कैरेक्टर की सीमा हटाने का आग्रह मिल रहा होगा।"

पढ़ें: माइक्रोमैक्‍स के 10 स्‍मार्टफोन जो आपकी पॉकेट में एकदम फिट बैठेंगे

तेजपाल ने कहा, "मेरे खयाल से ट्विटर अपने मौजूदा संसाधन पर ही अपना दायरा बढ़ा रहा हो। ट्विटर के एक डेवलपर ने लिखा है, "जुलाई में एक बदलाव जो हम करने जा रहे हैं, वह है डायरेक्ट मैसेज में से 140 कैरेक्टर की सीमा हटाना।

ट्विटर में 140 नहीं 10,000 कैरेक्टर मैसेज करने की मिलेगी लिमिट

डिजिटल रिसर्च एंड टेक्नालॉजी सोल्यूशंस के सह-संस्थापक सचिन दून ने कहा, "इसका उपयोग कारोबारी भी कर सकेंगे। वे अपने उत्पादों के न्यूजलेटर डायरेक्ट मैसेज में डाल सकेंगे। उन्होंने साथ ही कहा, "लोग अब अपने संदेश में व्यापकरण के नियमों का अधिक पालन कर सकेंगे।"

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

English summary
Looks like, Twitter is betting big on private messaging. In its developer blog, the company has announced it would get rid of the 140-character limit on direct messaging. It will now allow users to send direct messages that are 10,000 characters long.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more
X