जानिए कुछ ऐसे फैक्‍ट, जिन पर यकीन करना मुश्‍किल है !

Written By:

कुछ बाते ऐसी होती हैं जिनपर यकीन करना भले ही मुश्‍किल हो लेकिन वो सच होती है। जैसे एक इंसान का आकार केले के आधे भाग के जितना होता है, कागज की एक सिंगल शीट से चांद तक की दूरी तय की जा सकती है।

ऐसे ही इंसानी आंख इतनी ज्‍यादा सेंसिटिव होती है की अगर धरती को चपटा कर दिया जाए तो 20 किलोमीटर दूर जल रही कैंडिल की रोशनी भी देखी जा सकती है। इसी तरह से कई दूसरे फैक्‍ट हैं जिनके बारे में शायद आप सबने न सुना हो।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

1

एक इंसानी आंख 20 किलोमीटर दूर से भी कैंडिल की रोशनी देख सकती है।

2

इंसानी शरीर में इतनी रक्‍त कोशिकाएं होती है कि इससे धरती को 12 बार लपेटा जा सकता है।

3

वैज्ञानिकों के अनुसार, मनुष्‍य के दिमाग में लगभग 30 लाख अरब तंत्र कोशिकाएं मौजूद होती हैं। इसमें मौजूद प्रत्‍येक कोशिका अपने संचालन के लिए वोल्टेज का दसवां हिस्‍सा इस्‍तेमाल करती है।

4

समुद्र किनारे जितने रेत के कण है उससे अधिक हमारे ब्रमांड में तारे हैं।

5

दम घुटने के कारण व्यक्ति की मौत हो जाती है यह बात सभी जानते हैं, लेकिन अगर आप खुद अपनी सांस रोकते हैं तो आपको कुछ नहीं होगा।

6

हमारे कान में मौजूद श्रवण यंत्रिका की लंबाई लगभग तीन चौथाई इंच है लेकिन इसमें 30 हजार विद्युत सर्किट समाये हुए है। हमारे कान इतने संवेदनशील होते है कि यह 12 प्रकार के विभिन्‍न स्‍वरों के अंतर को पहचान सकते है।

7

मनुष्‍य की आंखें एक साथ 15 लाख संदेश इकट्ठा करती है। अगर हम इसकी नक़ल तकनीकी यंत्र द्वारा करना चाहें तो हमें 25000 टीवी ट्रांसमीटरों एवं रिसिवरों की आवश्‍कता होगी।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Please Wait while comments are loading...
श्रीलंका पर एक बार फिर बरपा गब्बर का कहर, बना दिया बड़ा रिकॉर्ड
श्रीलंका पर एक बार फिर बरपा गब्बर का कहर, बना दिया बड़ा रिकॉर्ड
'पूर्ण सूर्यग्रहण' Live:  भारत में दिखाई नहीं देगा, लेकिन राशियों पर असर होगा
'पूर्ण सूर्यग्रहण' Live: भारत में दिखाई नहीं देगा, लेकिन राशियों पर असर होगा
Opinion Poll

Social Counting