इसरो का नया सैटलाइट लॉन्च, जानिए कैसे अंतरिक्ष से होगी भारत की सुरक्षा

|

ISRO यानि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान ने एक और कीर्तिमान स्थापित किया है। इसरो ने कल एक ऐसी सैटेलाइट लॉन्च की है जो भारत की सरहदों को हर तरह और हर तरफ से सुरक्षित रखेगा। इसरो ने कल आंध्र प्रदेश श्रीहरिकोटा में स्थित रॉकेट प्रक्षेपण केंद्र से RISAT-2BR1 यानि अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट आरआईएसएटी-2बीआरआई1 के साथ नौ विदेशी सैटेलाइट को लॉन्च किया है।

इसरो का नया सैटलाइट लॉन्च, जानिए कैसे अंतरिक्ष से होगी भारत की सुरक्षा

 

RISAT-2BR के बारे में...

आपको बता दें कि ये भारत का बनाया गया ये एडवांस रडार इमेजिंग अर्थ ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट भारत के दुश्मनों की सभी हरकतों को रडार में रखने के लिए बनाया है। इसका वजन लगभग 628 किलोग्राम है। ऑब्जर्वेशन सैटेलाइट आरआईएसएटी-2बीआरआई1 यानि RISAT-2BR1 को पृथ्वी से 576 किमी ऊपर की एक ऑर्बिट में रखा जाएगा। इस सैटेलाइट की उम्र पांच साल होगी।

यह भी पढ़ें:- ISRO ने आज Cartosat-3 को सफलतापूर्वक किया लॉन्च, अंतरिक्ष से सभी दुश्मनों पर रखेगा पैनी नज़र

इस सैटेलाइट ने लॉन्च होने के बाद इसने करीब 16 मिनट में आरआईएसएटी-2बीआरआई1 (RISAT-2BR1) को 576 किमी ऊपर की एक ऑर्बिट में पहुंचाया और स्थापित किया। इसके बाद एक मिनट में 9 अन्य सैटेलाइट को इजेक्ट कराया गया। इसरो के एक अधिकारी ने कहा है कि ये सैटेलाइट विभिन्न एजेंसियों के लिए जरूरी तस्वीरों को प्रोवाइड कराने का काम करेंगे ताकि सुरक्षा एजेंसियां अपने जरूरत के हिसाब से उनका उपयोग कर सके।

इस सैटेलाइट के फायदे

आरआईएसएटी-2बीआरआई1 (RISAT-2BR1) के बारे में बताएं तो ये बादलों के पीछे छिपकर पृथ्वी की बेहद छोटी-छोटी चीजों की भी बेहद साफ तस्वीर ले सकती है। इसरो का कहना है कि इस सैटेलाइट का उपयोग प्राकृित आपदाओं को पोकने के लिए भी किया जाएगा। इसके अलावा इस सैटेलाइट का उपयोग कृषि, फॉरेस्ट्री के लिए भी उपयोग किया जा सकता है। हालांकि इस सैटेलाइट को खासतौर पर किस काम के लिए अंतरिक्ष में भेजा गया है, इसके बारे में साफ-साफ अभी कुछ भी कहना मुश्किल है।

 

यह भी पढ़ें:- नॉर्थ कोरिया की चंद्रयान-2 पर नज़र ? इसरो के सिस्टम पर किया साइबर अटैक

जैसा कि हमने आपको बताया कि इसरो ने अपने इस सैटेलाइट के साथ 9 अन्य सैटेलाइट को भी अंतरिक्ष में भेजा है। इनमें 4 देशों के सैटेलाइट शामिल हैं। जिसमें अमेरिका का मल्टी-मिशन लेमूर- 4 सैटेलाइट्स, टेक्नोलॉजी डिमॉन्स्ट्रेशन टायवाक-0129, अर्थ इमेजिंग 1हॉपसैट, जापान का क्यूपीएस-एसएआर-रडार इमेजिंग अर्थ ऑब्जरर्वेशन सैटेलाइट, इटली का सर्च एंड रेस्क्यू टायवाक-0092 और इजराइल का रिमोट सेंसिंग डुचिफैट- 3 शामिल है। इन सभी को इसरो ने अंतरिक्ष में भेजा है।

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

English summary
ISRO ie Indian Space Research Institute has established another record. ISRO has yesterday launched a satellite that will protect India's borders in every way and every way. ISRO has yesterday launched nine foreign satellites along with RISAT-2BR1 ie Earth Observation Satellite RISAT-2 BRI1 from Rocket Launch Center located at Andhra Pradesh Sriharikota.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more
X