हरियाणा के बेटी ने शुरू किया स्टार्ट-अप, सोशल मीडिया ने बना दिया स्टार

|

स्मार्टफोन, स्मार्ट टीवी और उन्नत तकनीकों की दुनिया में, लोग खुद को सुनने और व्यक्त करने की कला को भूल गए हैं। यहां तक कि हर संभव साधन की उपलब्धता के बावजूद, लोगों में इतनी रचनात्मकता, विचार या यहां तक कि भावनाएं बस में बंधी हैं और बाहर आने का कोई रास्ता नहीं है। डिजिटल गुरुजी आज बदलाव के असल मगर गुमनाम नायकों को उनकी सही पहचान दिलाने के साथ ही बदलाव की आवाज को बुलंद कर देश के कोने-कोने तक पहुंचा रहा है।

 
हरियाणा के बेटी ने शुरू किया स्टार्ट-अप, सोशल मीडिया ने बना दिया स्टार

अधिकांश स्टार्ट-अप मुख्यधारा की मीडिया जैसे टीवी, रेडियो या डिजिटल मीडिया कंपनियों द्वारा उपेक्षित हैं। इसके अलावा, अधिकांश छोटी स्टार्ट-अप फर्मों के पास अपने उत्पादों या सेवाओं को बढ़ावा देने के लिए पर्याप्त बजट नहीं है। हालांकि, एक छोटा उद्यम होने के बावजूद, हर स्टार्ट-अप को विभिन्न कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और धीरे-धीरे सफलता की सीढ़ी चढ़ती जाती है।

सोशल मीडिया पर बनाया बड़ा नाम

हरियाणा के छोटे से गांव से आने वाली डिजिटल गुरूजी की संस्थापक किसान की बेटी सुधा यादव समाज में सकारात्मक, नया और कुछ अलग करने वालों को एक प्लेटफार्म मुहैया करा रही हैं, जहां से उन चेंजमेकर्स की सोच, मुहिम या विश्वास को आगे बढ़ाया जा सके। सच मानें तो सुधा यादव ने सामाजिक बदलाव को ही अपनी जिंदगी का मकसद बना लिया है।

हरियाणा के बेटी ने शुरू किया स्टार्ट-अप, सोशल मीडिया ने बना दिया स्टार

सुधा यादव अपने मंच डिजिटल गुरूजी के दवारा देश के बेहतरीन इंसानों को आपस में जोड़ रही है। यहाँ डिजिटल गुरुजी पर हर कोई अपनी समस्याओं का हल खोजने के उद्देश्य से विशेषज्ञों से जुड़ सकता है। इसकी मदद से, हम एक बेहतर समाज के रूप में रहने का लक्ष्य बना सकते हैं।

यह भी पढ़ें:- Jio नंबर्स पर इंटरनेशन रोमिंग सर्विस को एक्टिवेट कैसे करेंयह भी पढ़ें:- Jio नंबर्स पर इंटरनेशन रोमिंग सर्विस को एक्टिवेट कैसे करें

सभी क्षेत्रों के लोग, छात्र से लेकर पेशेवर कोई भी व्यक्ति डिजिटल गुरुजी पर अपनी कहानी साझा कर सकते हैं। यह एक ऐसा मंच है जो लोगों को अपनी कहानियों को बताने का अधिकार देता है और उन्हें सुनने का अवसर प्रदान करता है।

 

2018 में शुरू किया स्टार्ट-अप

डिजिटल गुरुजी की स्थापना सुधा यादव ने मार्च 2018 में इस उद्देश्य से की थी ताकि लोगों को अपनी कहानियों और विचारों को साझा करने के लिए एक मंच और अवसर मिल सके। हालाँकि, सुधा के लिए यह सफर बहुत आसान नहीं था, उसे बचपन से ही आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था।

यह भी पढ़ें:- Aarogya Setu ऐप के जरिए COVID-19 वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करेंयह भी पढ़ें:- Aarogya Setu ऐप के जरिए COVID-19 वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें

उसके पिता एक छोटे किसान थे और एक कारखाने में मशीन ऑपरेटर के रूप में भी काम करते थे। सुधा का प्रयास हैं कि समाज में योगदान देने वाले लोगों की अनकही अनसुनी कहानियों को सामने लाया जाए, जिससे उन्हें पर्याप्त समर्थन और पहचान मिल सके।

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

English summary
Nowadays most start-ups are neglected by mainstream media such as TV, radio or digital media companies. One such start-up has been started by a daughter from Haryana, who is a champion for all. Sudha Yadav, daughter of the founder farmer of Digital Guruji, coming from a small village in Haryana, is providing a platform to the positive, new and different separators in the society.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X