मेटा लेकर आया Facebook, Instagram और WhatsApp के लिए यह नया नियम

|

मेटा (Meta) ने भारत में सामाजिक मुद्दों से संबंधित विज्ञापनों के लिए नए नियमों की घोषणा की है, ताकि लोगों को यह बेहतर ढंग से समझने में मदद मिल सके कि राजनीतिक चुनावों के दौरान कौन उन्हें प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है। इस कारण अब मेटा (Meta) ने भारत में एक नया नियम जारी किया है जो विज्ञापनकर्ताओं के लिए है और उसको फॉलो भी करना अनिवार्य है। तो आइये खबर को जानते है विस्तार से, यह भी जानते हैं कि अब इसमें क्या करना होगा।

 
मेटा लेकर आया Facebook, Instagram और WhatsApp के लिए यह नया नियम

अब इस नए नियम के बाद Facebook और Instagram और WhatsApp पर सामाजिक मुद्दों पर विज्ञापन चलाने वाले किसी भी व्यक्ति को अधिकृत होने की आवश्यकता होगी और इसके लिए डिस्क्लेमर जारी करना होगा।

एंड्रॉइड में Cache और Cookies को क्लियर कैसे करें, फॉलो करें ये आसान से स्टेप्सएंड्रॉइड में Cache और Cookies को क्लियर कैसे करें, फॉलो करें ये आसान से स्टेप्स

तो अब Facebook, Instagram और WhatsApp क्या पड़ेगा असर

इसके अलावा विज्ञापनों में "इसके द्वारा भुगतान किया गया" अस्वीकरण भी शामिल होना चाहिए, जो लोगों को उस व्यक्ति या संगठन का नाम देखने में सक्षम बनाता है जो उनका मालिक है।

बच्चों में ऑनलाइन गेमिंग की लत को रोकने के लिए सरकार ने जारी की एडवाइजरीबच्चों में ऑनलाइन गेमिंग की लत को रोकने के लिए सरकार ने जारी की एडवाइजरी

ऐसे प्रवर्तन के योग्य विज्ञापनों में नौ सामाजिक मुद्दे विषय शामिल हैं, जिनमें पर्यावरण राजनीति, अपराध, अर्थव्यवस्था, स्वास्थ्य, राजनीतिक मूल्य और शासन, नागरिक और सामाजिक अधिकार, आप्रवास, शिक्षा और सुरक्षा और विदेश नीति शामिल हैं।

क्या आप भी एक से ज्यादा सिम कार्ड रख रहे हैं, जान लीजिए नहीं तो बंद हो जाएगा आपका मोबाइल नंबरक्या आप भी एक से ज्यादा सिम कार्ड रख रहे हैं, जान लीजिए नहीं तो बंद हो जाएगा आपका मोबाइल नंबर

दिसंबर 2021 से, कोई भी भारतीय विज्ञापनदाता जो इस तरह के विषय पर विज्ञापन चलाना चाहता है, तो उसे पहले अपनी पहचान और स्थान की पुष्टि करनी होगी, इस बारे में अधिक विवरण देना होगा कि विज्ञापन के लिए भुगतान किसने किया या प्रकाशित किया।

WhatsApp Tricks: भूल से मैसेज को हटा दिया है, तो अब ऐसे कर सकते हैं रिकवरWhatsApp Tricks: भूल से मैसेज को हटा दिया है, तो अब ऐसे कर सकते हैं रिकवर

इसके अलावा कंपनी ने यह भी कहा है कि किसी भी विज्ञापन के गलत प्राधिकरण या डिस्क्लेमर न होने के कारण उसे हटा दिया जाएगा, जिसे बाद में सात साल के लिए प्लेटफॉर्म की सार्वजनिक विज्ञापन लाइब्रेरी में संग्रहीत किया जाएगा।

 

भारत में इस साल लोगों ने सबसे ज्यादा Google पर क्या सर्च किया, यहाँ देख लीजिए जवाबभारत में इस साल लोगों ने सबसे ज्यादा Google पर क्या सर्च किया, यहाँ देख लीजिए जवाब

फेसबुक ने सबसे पहले इन नियमों को 2019 में आम चुनावों से पहले भारत में राजनीतिक विज्ञापनों के लिए लाया था। और अब यह नया नियम देखने को मिला है। तो यदि आप भी फेसबुक, Instagram पर राजनीतिक विज्ञापन चलाते हैं तो आपको इस नियम का पालन करना होगा।

वहीं आपको याद दिला दें कि मेटा (Meta) पहले Facebook के नाम से जाना जाता था। लेकिन अक्टूबर में इसका नाम बदलकर मेटा रख दिया गया है। इस कारण अब फेसबुक की पैरेंट कंपनी मेटा के नाम से जानी जाती हैं।

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

English summary
Meta to enforce new rules for Facebook, Instagram, and WhatsApp

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X