शराब, सिगरेट, पान मसाला नहीं खाते फिर भी नशेड़ी हैं आप

Written By:

    "नशा बुरी चीज है" स्‍कूल से लेकर कालेज तक हमे यहीं सिखाया जाता है बेटा सिगरेट पीना गलत बात है, पान मसाला गंदे लोग खाते हैं। लेकिन आज बच्‍चों से लेकर उनके मां-बाप एक ऐसे नशे की गिरफ्त में आ चुके हैं जिससे वे चाह कर भी बाहर नहीं निकल सकते। नतीजा आप सबके सामने हैं, पार्कों में बच्‍चों के खेलने की आवाज नहीं बल्‍कि कैमरे से सेल्‍फी खींचने की आवाज ज्‍यादा सुनाई पड़ेगी, घरों में एक्‍सबॉक्‍स से लेकर दुनिया भर के वीडियो गेम्‍स भरे पड़े हैं। कुछ लोगों ने तो फेसबुक को अपनी दूसरी बीवी बना लिया है। दिन भर उसी से बतियाएंगे, रोएंगे और रात में फर्जी की कसमें-वसमें खाएंगे।

    पढ़ें: 15 करोड़ बार देखा गया ये वीडियो, आप भी देखने को हो जाएंगे मजबूर!

    यहां तक लोग अब अपनी आखों से देखने की बजाए मोबाइल स्‍क्रीन पर देखना ज्‍यादा पसंद करते हैं इसीलिए किसी भी शो में जाइए लोगों के सर नहीं हाथ दिखेंगे वो भी मोबाइल कैमरा ऑन किए हुए। अब ये सब में आपको इस लिए बता रहा हूं क्‍योंकि हमारे फ्रांस में रहने वाली भाई साहब Jean Jullien ने कुछ कार्टून बनाए हैं जो इस सच्‍चाई को ज्‍यादा बेहतर तरीके से बयां करते हैं आप खुद ही देख लीजिए।

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    Mobile addiction

    पहले मोबाइल पर मुंडी झुकाकर दिन गुजरता था अब स्‍मार्टवॉच भी आ गईंं हैं तो थोड़ा हाथों को भी तकलीफ देनी पड़ती है। 

    Mails

    Mails तो ऐसे थोक के भाव आती है जैसे एक के साथ 10 का ऑफर चल रहा है। यहां तक की हॉटसीट पर बैठने के बाद भी ऑफर की मेल चेक करते हैं। 

    Iphone

    जिसे देखो एपल लेना चाहता है भले ही जेब में 10 रुपए से ज्‍यादा न हों। 

    First photo then food

    आजकल खाना की खुशबू हमारी नाक से पहले फोन के कैमरे को अपनी ओर खींच लेती है तभी तो टेबल पर खाना आया नहीं की उसकी फोटो पहले अपलोड हो जाती है। 

    Smile Please

    सेल्‍फी न हो गई कुल्‍फी हो गई, कोई तुकबंदी नहीं बनी फिर भी बोल देता हूं। पहले तो लोग दौड़कर फोटो क्‍लिक करवाने के लिए खड़े हो जाते थे। लेकिन अब फोटो लेने वाला पहले खुद की फोटो लेता है फिर आपकी। 

    Photography

    "भाई जरा सर नीचे करनाा " ये आवाजे अक्‍सर आपने स्‍टेज शो या फिर सिनेमा हॉल में सुनी होगी लेकिन आजकल लोग इसकी जगह ये बोलते हैं भाई जरा मोबाइल नीचे करना आगे कुछ दिख नही रहा है। 

    Alone

    क्‍यामत से क्‍यामत तक का ये गाना तो आप सबने सुना होगा "अकेले हैं तो क्‍या गम है " बस या फिर ट्रेन में सफर के दौरान कई नए दोस्‍त बन जाते थे लेकिन अब तो वही फेसबुक के फ्रेंड पूरे सफर में साथ रहते हैं ऑनलाइन। बगल में कौन बैठा है किसी को कुछ खबर नहीं रहती। 

    Barcode scanner

    बार कोड स्‍कैनर भारत में अभी इतने पॉपुलर नहीं हूए हैं जितने दूसरे देशों में हैं। फोन में स्‍कैन ऑन किया स्‍कैन किया और पेमेंट हो गया। कुछ दिनों में लोग स्‍कैन करने के बाद ही पहचानेंगे कि ये मिश्रा जी है या शुक्‍ला जी। 

    During Dinner

    पहले खाने की टैबल से आवाज आती थी मम्‍मी रोटी खत्‍म जल्‍दी लाओं आजकल खाना खा लो 1 घंटे से सामने रखा है। 

    Online meeting

    संडे को भी अब लोग पेजामें में मीटिंग ले सकते हैंं अरें भाई लैपटॉप के कैमरे में किसे दिख रहा है नीचे क्‍या पहने हैं। जब मन हो मीटिंग लो एक क्‍या दिन में 10 मीटिंग ले सकते हैं भाई। 

    News paper

    अखबार पलटने का झंझट अब नहीं रहा स्‍वाइप करिए। ऑनलाइन इतने अखबार मिलेंगे कि सुबह की चाय से लेकर रात की कॉफी तक पढ़ते ही रहेंगे। हम में से कई ऐसा करते भी हैं। 

    No social media

    जरा सोचिए नहीं सोच सकते फिर भी सोचिए कि अगर ऐसी जगह आप चले जाएं जरा पर न फेसबुक हो न मेल और न ही इंटरनेट कितना  सुकून मिलेगा। मैने कहा था न नहीं सोच सकते। 

    Night alert

    रात में स्‍मार्टफोन को पास की रख कर सोते हैं कहीं रात में वो राने लगे तो... 

    14

    सुनिए सुबह हो गई, अब तो लैपटॉप बंद कर दीजिए। रात से ही भसड़ कर रहे हैं उसमें। 

    QWERTY

    ब्‍लैकबेरी अपने क्‍वार्टी की-बोर्ड की वजह से काफी पॉपुलर था लेकिन अब क्‍वार्टी की पैड जा चुके हैं जबकि मैसेजिंग एप्‍लीकेशनों की बाड़ आ चुकी है। ऐसे में लैंडलाइन फोन में भी क्‍वाटीकी-पैड होना चाहिए। 


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    English summary
    These Cartoons Capturing Our Addiction With Modern Technology Are Spot On
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more