बिना आखों के देख सकेंगे फेसबुक की फोटो

Written By:

सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी फेसबुक ने एक ऐसी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) फीचर की शुरुआत की है, जिससे नेत्रहीन और नेत्रहीन उपयोगकर्ता फेसबुक पर साझा होने वाली तस्वीरों को महसूस कर पाएंगे। फेसबुक ने सोमवार को 'ऑटोमेटिक अल्टरनेटिव टेक्सट' नामक यह फीचर शुरू किया है, जो स्वचालित रूप से नेत्रहीन उपयोगकर्ताओं को तस्वीरों की सामग्री का वर्णन कराएंगे।

पढ़ें: रूम में हिडेन कैमरा तो नहीं, ऐसे करें पता!

बिना आखों के देख सकेंगे फेसबुक की फोटो

वेबसाइट 'द वर्ज' की रपट के अनुसार, इसका निर्माण फेसबुक के मात्र पांच साल पुराने एक दल ने किया है। इस फीचर के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में प्रयोग होने वाले कंप्यूटेशनल लर्निग सिद्धांत मशीन लर्निग का उपयोग किया गया है।

रपट में बताया गया है कि मशीन लर्निग से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के निर्माण में मदद मिलती है, जिससे भविष्यवाणी करने में एल्गोरिदम का इस्तेमाल किया जाता है। तस्वीरों को समझने के लिए मशीन लर्निग का उपयोग करने वाला फेसबुक अकेला नहीं है, इससे पहले गूगल फोटोस और फ्लिकर में भी इसका प्रयोग हो चुका है, हालांकि इस फीचर में त्रुटियों की संभावना रहती है।

Im inspired by this video about our artificial intelligence research at Facebook.Our AI can now look at a photo, figure out whats in it and help explain it to you. This is especially helpful if youre blind or cant see the photo. We see AI as helping computers better understand the world -- so they can be more helpful to people.Were still early with this technology, and you can already start to imagine how helpful it will be in the future.

Posted by Mark Zuckerberg on Tuesday, November 3, 2015

English summary
As the internet becomes dominated by images, Facebook is launching a system which can "read" photos and tell visually impaired people what appears in them.
Please Wait while comments are loading...
सामने आया 50 रुपए के नए नोट का फर्स्‍ट लुक, जानें इसकी खासियत
सामने आया 50 रुपए के नए नोट का फर्स्‍ट लुक, जानें इसकी खासियत
परिजनों ने छुपकर देखी शिक्षक की करतूत, कैसे मासूम को बना रहा था हवस का शिकार...
परिजनों ने छुपकर देखी शिक्षक की करतूत, कैसे मासूम को बना रहा था हवस का शिकार...
Opinion Poll

Social Counting