Tap to Read ➤

एयर प्‍यूरीफायर लेते समय किन-किन बातों का ध्‍यान रखें

अगर आप दिल्‍ली जैसे किसी दूसरे शहर में रहते हैं तो शायद बाहर सांस लेने में थोड़ी बहुत दिक्‍कत महसूस होती हो, बाहर की हवा न सही लेकिन घर के अंदर तो साफ हवा ले ही सकते हैं। बस इसके लिए एक ऐसा एयर प्‍यूरीफायर घर ले आइए जो आपकी जरूरत पूरी कर सक
Rahul Sachan
कमरे का साइज
 जब भी एयर प्‍यूरीफायर खरीदे इस बात का खास ख्‍याल रखें की आपके कमरे का साइज़ कितना है, हर प्‍यूरीफायर की अपनी क्षमता होती है। अगर बड़े साइज के रूम में छोटा एयरप्‍यूरीफायर लगा देंगे जो वो हवा को पूरी तरह से साफ नहीं कर पाएगा बल्‍कि उसका फिल्‍टर भी जल्‍दी खराब होगा।
UV लाइट और आयोनाइज़र बेस प्‍यूरीफायर लेने से बचें, इनसे निकलने वाली ओजोन आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकती है। हमेशा HEPA (High-Efficiency Particulate Air) बेस प्‍यूरीफायर खरीदें।
UV लाइट प्‍यूरीफायर न लें
किसी भी एयर प्‍यूरीफायर में फिल्‍टर ही वो मेन पार्ट होता है जो सबसे ज्‍यादा महंगा पड़ता है, इसलिए जो भी एयर प्‍यूरीफायर सलेक्‍ट करें उसके फिल्‍टर रिप्‍लेसमेंट में कितनी रकम खर्च करनी पड़ेगी उसे चेक लें ताकि बाद भी वो महंगा न पड़े।
फिल्‍टर रिप्‍लेसमेंट की Cost चेक कर लें
किसी भी कमरे की हवा को साफ करने के लिए एयर प्‍यूरीफायर में कई सेंसर लगे होते हैं जो मेन मोटर को ऑन ऑफ हवा की क्‍वालिटी के हिसाब से करते रहते हैं। इस लिए प्‍यूरीफायर लेते समय ये चेक कर लें उसके बिजली की कितनी खपत होती है।
बिजली की खपत कितनी करता है
अगर आप ऐसी जगह रहते हैं जहां पर धुआं और धूल काफी ज्‍यादा रहती है और आपके घर में बुजुर्गों या फिर छोटे बच्‍चे हैं तो ये हवा घर के अंदर उन्‍हें सबसे ज्‍यादा नुकसान पहुंचा सकती है साथ ही बीमार भी कर सकते हैं। इससे बचने के लिए आपके पास एक अच्‍छा एयर प्‍यूरीफायर होना बेहद जरूरी है।
एयर प्‍यूरीफायर क्‍यों जरूरी है