कितने लोग सोते समय भी अपने पास रखते हैं स्‍मार्टफोन

Written By:

अमेरिका में कॉलेज जाने वाले 75 फीसदी युवा स्मार्टफोन पर निर्भर रहते हैं। यहां तक कि हर पांच में से एक युवा स्मार्टफोन के बगैर खुद को असहाय महसूस करने लगता है। एक अध्ययन के अनुसार जहां 86 फीसदी युवाओं ने कहा कि वे सोते समय भी अपना स्मार्ट फोन पास रखकर सोते हैं, वहीं 81 फीसदी का कहना था कि यदि फोन उनके पास नहीं होता तो वे घबरा जाते हैं।

पढ़ें: एपल का नया बिक्री मंत्र, आईफोन 5 एस के दाम किए कम

अध्ययन में पता चला कि कॉलेज जाने वाले 63 फीसदी छात्र यह मानते हैं कि वे अपने फोन को साइलेंट मोड में भी सुन सकते हैं। जबकि 55 फीसदी का मानना है कि वे परेशानियों से बचने और मूड ठीक करने के लिए स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं।

पढ़ें: मत खरीदें सोनी के 5 स्‍मार्टफोन, जानिए क्‍यों ?

कितने लोग सोते समय भी अपने पास रखते हैं स्‍मार्टफोन

अलाबामा के मोंटगोमरी स्थित अलाबामा स्टेट युनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने कहा कि कुछ मामलों में हालांकि स्मार्टफोन पर निर्भर रहना उचित है। उन्होंने कहा, "उदाहरण के लिए, एक महिला अपने आपको को सुरक्षित महसूस करती है, जब उसके पास फोन होता है और फोन नहीं मिलने पर घबरा जाती हैं।"

शोधकर्ताओं के मुताबिक कई सालों तक लगातार ऑनलाइन संपर्क के इस्तेमाल से लोग अपने विचार, सोच और राय के बारे में चिंतन करना लगभग छोड़ देते हैं और कई बार तो काफी अकेलापन महसूस करने लगते हैं। 'द ट्रथ एबाउट स्मार्टफोन एडिक्शन' शीर्षक के अंतर्गत किया गया अध्ययन नेशनल कॉलेज स्टूडेंट जर्नल में प्रकाशित होने वाला है।

Please Wait while comments are loading...
धोनी ने पूरी की फिफ्टी तो बन गया कोहली का मुंह, ताली तक नहीं बजाई
धोनी ने पूरी की फिफ्टी तो बन गया कोहली का मुंह, ताली तक नहीं बजाई
 मर्दों के लिए सेक्स मजा, लेकिन औरत करे तो वो क्राइम: कंगना रनौत
मर्दों के लिए सेक्स मजा, लेकिन औरत करे तो वो क्राइम: कंगना रनौत
Opinion Poll

Social Counting