ये हैं 2015 के तकनीकी रूप से सबसे उन्‍नत देश

Posted By:

    दुनिया का हर देश किसी न किसी क्षेत्र में अव्‍वल है, ऐसे ही तकनीक के क्षेत्र की बात करें तो आपके जहन में चाइना, जापान, साउथ कोरिया आएंगे मगर इनके अलावा कई ऐसे दूसरे देश हैं जो टेक्‍नालॉजी की दुनिया में अपनी धाक जमाएं हुए हैं। हम आपको आज 12 ऐसे ही देशों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्‍होंने टेक्‍नालॉजी की दुनिया में अपना अहम योगदान दिया है।

    टॉप 12 देश जो टेक्‍नालॉजी में हमसे कई गुना आगे हैं।

    पढ़ें: पूरी दुनिया को मिलेगा विंडो 10 का तोहफा, जानिए क्‍या-क्‍या होगा नए वर्जन में

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    12) China

    कहा जा रहा है चाइना अगली महाशक्‍ती बन सकता है, इसका सबसे बड़ा कारण है तकनीक में नंबर वन होना, पूरे विश्‍व में चाइना अपनी नवीनतम तकनीक के लिए जाना जाता है, आज अगर हम रोबोटिक्‍स की बात करें, या फिर हाईस्‍पीड ट्रैन की चाइना में आपको सभी चीजें मिलेंगी। दिन पर दिन चाइना तकनीक के क्षेत्र में नए आयाम छू रहा है।

    11) Netherlands

    नीदरलैंड टेलिकॉम क्षेत्र में सबसे आगे है, यहां आपको कंप्‍यूटर, इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स से जुड़े कई उद्योग मिल जाएंगे। इसके अलावा नीदरलैंड, डिस्‍क, आर्टीफीर्शियल किडनी बनाने के लिए भी जाना जाता है।

    10) Singapore

    तकनीक के क्षेत्र में अगर बिजनेस करना चाहते हैं तो सिंगापुर सबसे बेस्‍ट है यहां पर दुनिया का सबसे फास्‍ट इंटरनेट मिलेगा। घर में आपको 1 गीगाबाइट पर सेकेंड की स्‍पीड मिलेगी। सिंगापुर में हर एक व्‍यक्ति के पास अपना स्‍मार्टफोन है।

    9) Canada

    कैनेडा तकनीक के क्षेत्र में काफी डेवलप कंट्री है, यहां की सरकार इंडसट्रियल रिसर्च को काफी बढ़ावा देती है, देश में बायोटेक्‍नालॉजी और स्‍पेस एक्‍प्‍लोरेशन जैसे क्षेत्र तेजी से प्रगति कर रहे हैं।

    8) United Kingdom

    यूनाइटेड किंगडम दुनिया में पहला ऐसा नेशन है जहां पर इंडस्‍ट्रिलाइजेशन शुरु हुआ था, इसके अलावा हाईड्रोजन, जेट इंजन, लोकोमोटिव इंजन, वर्ल्‍ड वाइड वेब, इलेक्‍ट्रिक मोटर का अविष्‍कार भी यहीं हुआ था।

    7) Finland

    फिनलैंड अपने हाइटेक प्रोडेक्‍ट्स और हेल्‍थकेयर के लिए जाना जाता है, इसके अलावा नोकिया का जन्‍म भी यहीं हुआ था जो एक समय में मोबाइल की दुनिया में नंबर वन थी।

    6) Russia

    रूस ने सबसे पहला मानव चंद्रमा की धरती पर भेजा था, इसके आलावा रशिया हैवी मशीनरी और डिफेंस सिस्‍टम के लिए भी जाना जाता है। धरती से हवा में मार गिराने वाली मिसाइलें भी सबसे पहले रशिया में ही बनाई गईं थीं।

    5) Germany

    जर्मनी कई दशकों तक हाइटेक देशों में गिना जाता रहा है, खास कर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में जर्मनी का काफी नाम है। मर्सडीज, बेंज, बीएमडब्‍लू, पोर्शे जैसी बड़ी कार कंपनियां जर्मनी की ही देन हैं।

    4) Israel

    इज़राइल का 35 प्रतिशत एक्‍सपोर्ट तकनीक से जुड़ा होता है, स्‍पेस साइंस के क्षेत्र में आने वाली टॉप 5 देशों में से इज़ाइल भी एक है एक तरह से इज़राइल को रक्षा क्षेत्र के लिए जाना जाता है। यहां पर सबसे पहला यूएवी यानी अनमैन एरियल वेकिल सिस्‍टम बनाया गया था। इसके अलावा इलेक्‍ट्रिक कारों के लिए भी इज़राइल को जाना जाता है।

    3) South Korea

    साउथ कोरिया को तकनीकी का जन्‍म स्‍थान भी कहां जाता है, एलजी, ह्यूदय और सैमसंग जैसे ब्रांड साउथ कोरिया की ही देन हैं जो एपल और टोयोटा जैसे बड़े ब्रांडों को टक्‍कर दे रहे हैं।

     

    2) United States

    स्‍पेस टेक्‍नालॉजी में एडवांस होने के साथ यूएस को दुनिया की महाशक्‍ति भी कहा जाता है, दुनिया में सबसे हाइटेक मिलिट्री के क्षेत्र में यूएस का नाम पहले पायदान पर आता है।

    1) Japan

    जापान दुनिया में तकनीक क्षेत्र में सबसे उन्‍नत देश है जिसने साइंटिस्‍ट रिसर्च से लेकर ऑटोमोबाइल, इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स, मशीनरी, रोबोटिक्‍स के क्षेत्र में काफी योगदान दिया है। देश में 34 प्रतिशत बिजली न्‍यूक्‍लियर पॉवर से जनरेट की जाती है। इसके अलावा जापानी रिर्सचरों ने कई नोबेल पुरस्‍कार भी जीते हैं।


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    English summary
    Technology is the application of scientific knowledge for practical purposes, especially in industry.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more