2020 तक 50% से भी कम बचेंगे टीवी यूजर्स, ये है वजह

Written By:

सभी इलेक्ट्रॉनिक कंपनियां इस समय हाईटेक स्मार्ट टीवी लॉन्च कर रही हैं। इसकी वजह ग्राहकों को लुभाने और टीवी खरीदने के लिए आकर्षित करना है। अगर आप भी टीवी देखने के शौकीन हैं, तो ये खबर आपके लिए खास हो सकती है। साल 2020 तक टीवी देखने वाले यूजर्स मोबाइल, लैपटॉप और टैबलेट की स्क्रीन पर टीवी देखेंगे।

2020 तक 50% से भी कम बचेंगे टीवी यूजर्स, ये है वजह

नेटवर्किंग और टेलीकम्यूनिकेशन कंपनी एरिक्सन ने कुछ दिनों पहले एक सर्वे रिपोर्ट पेश की। इस रिपोर्ट में कहा गया कि टीवी देखने वालों की संख्या घट रही है और 2020 तक 50 फीसदी से ज्यादा लोग मोबाइल फोन पर टीवी और वीडियो देखेंगे। साल 2010 के मुकाबले ये 85 फीसदी की बढ़ोत्तरी होगी।

पढ़ें- Airtel 4G स्मार्टफोन Vs Jio phone: देखें, किसमें कितना है दम

इस स्टडी रिपोर्ट में ये भी कहा गया कि 2020 तक वर्चुअल रियलिटी बहुत कॉमन चीज होगा और हर तीन में से एक इंसान वीआर यूजर होगा। साथ ही 1 सप्ताह में 30 घंटे तक टीवी और वीडियो देखने का समय बढ़ गया है।

पढ़ें- Paytm Mall लाया महा कैशबैक सेल, इन प्रॉडक्ट पर 70% डिस्काउंट

इसमें इंटरनेट सर्विस, लाइव और ऑन डिमांड इंटरनेट सेवाएं, डाउनलोडेड और रिकार्डेड सामग्री का ज्यादा प्रयोग हो रहा है। जिससे कहा जा सकता है कि लोग मोबाइल और लैपटॉप पर टीवी देखना पसंद कर रहे हैं।

पढे़ं- स्मार्टफोन में Popup Notifications से हैं परेशान, ऐसे करें ब्लॉक

बता दें कि एरिक्सन स्वीडन बेस्ड कंपनी है और ये सर्वे स्थानीय लोगों के टीवी देखने के व्यवहार के आधार पर किया गया है। भारत में फिलहाल लैपटॉप और स्मार्टफोन से ज्यादा हर घर में टीवी पाया जाता है। अनुमान है कि इंडिया में टीवी यूजर्स की संख्या कई साल तक बरकरार रहेगी।



English summary
50 percent of TV switch on mobile in 2020. more detail in hindi.
Please Wait while comments are loading...
इस दर्दनाक दास्‍तां को सुन रो पड़ेंगे आप, पति के सामने रोज पत्‍नी से होता था रेप, दो बच्‍चों को दिया जन्‍म
इस दर्दनाक दास्‍तां को सुन रो पड़ेंगे आप, पति के सामने रोज पत्‍नी से होता था रेप, दो बच्‍चों को दिया जन्‍म
7 साल बाद अपनी जमीं पर खेले दिनेश कार्तिक, इस खिलाड़ी की जगह ली
7 साल बाद अपनी जमीं पर खेले दिनेश कार्तिक, इस खिलाड़ी की जगह ली
Opinion Poll

Social Counting