Amazon Alexa के पीछे, भारतीय इंजीनियर का दिमाग

    अमेजन कंपनी अपना मुकाम हासिल करती जा रही है। हमें कुछ भी ऑनलाइन खरीदना हो तो हमारे दिमाग में सबसे पहले अमेजनअमेजन का नाम सामने आता है। अमेजन ना सिर्फ आपको शॉपिंग करने की सहुलियत देता है बल्कि अमेजन प्राइम मेंबरशिप से आपको मनोरंजन का भी भरपूर आनंद मिलता है। जिससे आप लेटस्ट मूवी, गाने और सेल का सबसे पहले फायदा उठा सकते हैं।

     Amazon Alexa के पीछे, भारतीय इंजीनियर का दिमाग

    अमेजन का नया अविष्कार

    अब बात करते हैं अमेजन के एक और अविष्कार की जो काफी चर्चा में है, वो है ऐलेक्सा। अमेजन के इस स्मार्ट स्पीकर Amazon Echo के बारे में तो आपने भी सुना या पढ़ा होगा। यह एक वायरलेस स्पीकर है जो आपकी आवाज पर काम करता है। किसी को फोन लगाना हो या अपना मनचाहा गाना सुनना हो या फिर क्रिकेट स्कोर पता करना हो। बस एक आवाज दीजिए और यह स्पीकर आपके लिए सब करेगा।

    Amazon Alexa के पीछे भारतीय दिमाग

    ऐलेक्सा बेस्ड कई स्मार्ट स्पीकर्स बाजार में उपलब्ध हैं जिनमें सबसे पॉपुलर Amazon Echo है। आपको बता दें कि ऐलेक्सा के पीछे भारतीय दिमाग है। जी हां, बता दें कि एेलेक्सा के पीछे झारखंड के रांची के रहने वाले इंजिनियर रोहित प्रसाद का हाथ है। रोहित के कारण ही यह सब मुमकिन हो पाया है। अगर रोहित के जीवन पर थोड़ा सा प्रकाश डाला जाए तो, रोहित ने स्कूलिंग DAV हाई स्कूल में हुई। जिसके बाद इंजिनियरिंग करने के लिए रोहित के पास IIT रुड़की और बिड़ला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (BIT), बीआईटी मेसरा का विकल्प था। जिसमें से रोहित ने BIT मेसरा को चुना। जो रांची में ही स्थित है। जिसके सबसे बड़ा कारण यह था कि वह अपने परिवार से नजदीक रहना चाहते थे।

    झारखंड के इंजीनियर ने बनाया ऐलेक्सा

    साल 1997 में उन्होंने अपनी इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड कम्युनिकेशन इंजिनियरिंग पूरी की। इंजिनियरिंग पूरी करने के बाद रोहित इलेक्ट्रॉनिक इंजिनियरिंग की पढ़ाई करने के लिए अमेरिका के इलिनॉइस इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी में चले गए। जहां उन्होंने वायरलेस ऐप्लिकेशन्स के लिए लो बिट रेट स्पीच कोडिंग पर रिसर्च की। इसी दौरान Amazon Alexa पर काम के लिए Recode वेबसाइट ने रोहित को उनके साथी टोनी रेड, बिजनेस और मीडिया के टॉप 100 लोगों में 15 वें नंबर पर रखा।

    मोस्ट क्रिएटिव लोगों की लिस्ट में आया नाम

    अमेजन से पहले, प्रसाद ने 14 वर्षों तक बीबीएन टेक्नोलॉजीज में काम किया। बता दें, BBN कंपनी आवाज पहचानने, नैचुरल लैंग्वेज अंडरस्टैंडिंग और मशीन लर्निंग की मुख्य R&D साइट है। प्रसाद यहां पर बिजनस यूनिट के डेप्युटी मैनेजर पद पर रहे। 2013 में वह अमेजन से जुड़े। दो साल पहले ही अमेजन ने उन्हें अलेक्सा आर्टिफिशिअल इंटेलिजेंस के हेड साइंटिस्ट का पद दिया। अपने एक इंटरव्यू में रोहित ने खुशी जाहिर करते हुए बताया कि "हम स्टार ट्रैक युग में बड़े हुए, यह हमारे लिए प्रेरणा थी। अमेरिकी बिजनस मैगजीन फास्ट कंपनी ने रोहित को 2017 बिजनेस के टॉप 100 मोस्ट क्रिएटिव लोगों में 9वां स्थान दिया।

    यह ध्यान रखना दिलचस्प है कि एलेक्सा ने पहले 2017 में अपनी भारतीय शुरुआत की, देश में Google Assistant को हराया। अमेजन इको और Google होम जैसे उपकरणों के माध्यम से वॉयस-बेस्ड खोज, शॉपिंगऔ र सोशल नेटवर्किंग धीरे-धीरे दुनिया भर में अपना निशान बना रही है।

     
    Technology in Hindi
    Facebook Group · 239 members
    Join Group
    Are you a gadget freek or you want to keep yourself updated for everything related to technology? This is the group you should join. Here you will get...
     

    English summary
    You must have heard about Amazon Alexa.Alexa-based smart speakers are available in the market, with the most popular Amazon Echo. This is the Indian mind behind the Alexa. Yes, behind the Alexa, Jharkhand Ranchi engineer Rohit Prasad is in charge of the hand. Let us tell you the story of Rohit.
    भारत का अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक पोल. क्या आपने भाग लिया?
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more