Paytm, Razorpay और Cashfree पर ED का छापा, चाइनीज लोन ऐप मामले में की गई कार्रवाई, जानिए डिटेल्स

|

चीनी लोन ऐप मामले में ईडी (ED) ने डिजिटल पेमेंट कंपनियों के परिसरों में छापेमारी की है. ED ने शनिवार को कहा कि उसकी टीम ने ऑनलाइन पेमेंट गेटवे रेजरपे, पेटीएम और कैसफ्री के ठिकानों पर छापेमारी की है. छापेमारी चीनी लोगों द्वारा नियंत्रित 'अवैध' तत्काल स्मार्टफोन आधारित ऋण से संबंधित मामलों के संबंध में की गई थी. ईडी ने कहा कि शुक्रवार को बेंगलुरू में छह जगहों पर छापेमारी शुरू की गई. छापेमारी के दौरान ईडी ने चीन के लोगों के नियंत्रण वाली संस्थाओं के मर्चेंट आईडी और बैंक खातों में रखे 17 करोड़ रुपये जब्त किए हैं. वहीं छापेमारी अभी जारी है.

 
चाइनीज लोन ऐप मामले में Paytm, Razorpay और Cashfree पर ED का छापा

बेंगलुरु में 6 जगहों पर छापेमारी

प्रवर्तन निदेशालय के मुताबिक 2 सितंबर को बेंगलुरु में छह जगहों पर यह छापेमारी शुरू की गई है. प्रवर्तन निदेशालय की ओर से कहा गया है कि यह छापेमारी अभी जारी है. संघीय जांच एजेंसी ने कहा कि उसने छापे के दौरान चीनी लोगों द्वारा नियंत्रित संस्थाओं के मर्चेंट आईडी और बैंक खातों में रखे 17 करोड़ रुपये जब्त किए गए हैं.

पेटीएम ने दी सफाई

पेटीएम ने कहा, 'ED ने कुछ मर्चेंट संस्थाओं की मर्चेंट आईडी से कुछ रकम वापस लेने का निर्देश दिया था. हम यह बताना चाहेंगे कि इनमें से कोई भी फंड, जिसे रोके जाने का निर्देश दिया गया है, पेटीएम या हमारे समूह की किसी कंपनी से संबंधित नहीं है.

चाइनीज लोन ऐप मामले में Paytm, Razorpay और Cashfree पर ED का छापा

चीन में बैठे इन संस्थाओं को नियंत्रित किया जा रहा

ED के अनुसार, इन संस्थाओं की कार्यप्रणाली यह है कि वे भारतीय नागरिकों के जाली दस्तावेजों का उपयोग करके उन्हें डमी निदेशक बनाकर अवैध आय अर्जित कर रहे हैं. ईडी ने कहा है कि इन संस्थाओं पर चीन के लोगों का नियंत्रण है.

पढ़ें : पीएम किसान योजना : किसानों के लिए खुशखबरी! इस तारीख तक मिल सकती है 12वीं किस्त का पैसा, करें चेक

लेटेस्ट मोबाइल और टेक न्यूज, गैजेट्स रिव्यूज़ और टेलिकॉम न्‍यूज के लिए आप Gizbot Hindi को Facebook और Twitter पर फॉलो करें.

 
Best Mobiles in India

Read more about:
English summary
According to the ED, the modus operandi of these entities is that they are earning illegal income by making them dummy directors by using forged documents of Indian citizens. The ED has said that these institutions are controlled by the people of China.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X