2050 तक 10 लाख लोग मंगल ग्रह पर जाएंगे, क्या आपको भी जाना है...?

|

इसमें कोई शक नहीं है कि इंसान आए दिन तरक्की कर रहा है। बता दें, स्पेस एक्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एलन मस्क ने भी अपना लक्ष्य तय कर दिया है। एलन मस्क ने निर्णय लिया है कि वह वर्ष 2050 तक 10 लाख लोगों को मंगल ग्रह को भेजेंगे। एलन मस्क ने काफी सारे ट्वीट्स करके कई खुलासे किए। वहीं अपने स्टारशिप प्रोग्राम के बारें में बात करते उन्हें कहा कि आधी शताब्दी तक लाल ग्रह पर मानवों को पहुंचाने के लिए रॉकेट कई मेगाटन सामान ले जाएगा।

 
2050 तक 10 लाख लोग मंगल ग्रह पर जाएंगे, क्या आपको भी जाना है...?

स्टारशिप डिजायन का लक्ष्य

अपने काफी सारे ट्वीट के जरिए एलन मस्क ने और भी कई खुलासे किए। एक ट्ववीट में कहा गया कि "बहुग्रही जीवन संभव बनाने के लिए प्रतिवर्ष कई मेगाटन की जरूरत होती है।" इसके अलावा उन्होंने कहा कि "स्टारशिप डिजायन का लक्ष्य तीन उड़ानें प्रतिदिन की औसत दर, जिससे प्रतिवर्ष लगभग 1,000 उड़ानें तो प्रति 10 जहाजों से कक्षा को एक मेगाटन की प्राप्ति होगी।" ऑर्बिटल स्टारशिप प्रोटोटाइप की बात करें तो डिजाइन्ड एसएन1 वर्तमान में स्पेस एक्स की टेस्ला इकाई में बन रहा है।

यह भी पढ़ें:- भारत की टेक्नोलॉजी और विज्ञान को बढ़ाने वाले एपीजे अब्दुल कलाम की कहानीयह भी पढ़ें:- भारत की टेक्नोलॉजी और विज्ञान को बढ़ाने वाले एपीजे अब्दुल कलाम की कहानी

बताया जा रहा है कि 10 वर्षो में 1,000 या 100 मेगाटन प्रतिवर्ष या एक लाख व्यक्ति पृथ्वी-मंगल की प्रति परिक्रमा पर पहुंचेंगे। इसे तब पूरी तरह से सफलता मिल सकती है जब जब पृथ्वी और मंगल सबसे करीब होंगे। बता दें, स्पेस एक्स ने पिछले साल सितंबर में नासा से मंगल ग्रह पर संभावित लेंडिंग साइट्स प्रदान करने का आग्रह किया था।

विज्ञान में सबकुछ संभव है

स्पेस एक्स ऑटोमोबाइल कंपनी टेस्ला की मदद से स्टारशिप बना रहा है, जो मानवों को मंगल ग्रह पर पहुंचाने के लिए रीयूजेबल वाहन बनाएगा। बता दें हाल में इलेक्ट्रिक व्हीकल कंपनी टेस्ला ने अपनी पहली मेड इन चाइना कार को पहले ही डिलीवर कर दिया है।

यह भी पढ़ें:- अब टेक्नोलॉजी की मदद से बनेगी Man Made Eyesयह भी पढ़ें:- अब टेक्नोलॉजी की मदद से बनेगी Man Made Eyes

ये वाकई में एक बड़ी और अकल्पनीय बात है। आपने सुना होगा कि विज्ञान में पहली बार सोची गई हर एक चीज लोगों को मजाक लगती है और लोग उस बात पर हसंते हैं लेकिन वक्त आने वाले विज्ञान की वो मजाक वाली बात भी सच साबित हो जाती है। उसके बाद लोग सोचते हैं कि विज्ञान में सबकुछ संभव है लेकिन फिर किसी और भी अविश्वसनीय कल्पना को सोचने पर वो मजाक लगती है, जैसे मंगल पर 10 लाख लोगों को ले जाने की बात काफी लोगों एक मजाक जैसी बात लग रही है।

 

ये भी संभव है:- सपनों को रिकॉर्ड करने की पूरी कहानी, सुनिए हिंदी गिज़बॉट की जुबानी

हालांकि ऐसा नहीं है कि मंगल पर लोगों को ले जाना संभव नहीं है। समय आने पर ऐसा भी हो सकता है। बहराल आप हमारे यानि हिंदी गिज़बॉट के साथ जुड़े रहिए और टेक्नोलॉजी दुनिया की ऐसी सभी ख़बरों को पढ़ते रहिए। आप हमारे फेसबुक और हेलो के ऑफिसियल अकाउंट से भी जुड़ कर सभी टेक ख़बरों से अपडेट रह सकते हैं।

 
Best Mobiles in India

English summary
There is no doubt that man is progressing in the coming days. Let us know, Elon Musk, Chief Executive Officer (CEO) of Space X has also set his goal. Elon Musk has decided that by the year 2050 he will send 10 million people to Mars. Elon Musk made many revelations by making a lot of tweets.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X