आप अकेले नहीं हैं जिसकी फ्रेंड रिक्‍वेस्‍ट ठुकराई गई है

|
आप अकेले नहीं हैं जिसकी फ्रेंड रिक्‍वेस्‍ट ठुकराई गई है

अगर फेसबुक पर किसी ने आपकी फ्रेंड रिक्वेस्ट ठुकरा दी थी जिसे लेकर आपको बहुत खराब लग रहा था तो सच मानें ऐसा महसूस करने वाले आप अकेले नहीं हैं जिसको रिक्‍वेस्‍ट ठुकराने पर बुरा लग रहा है। एक नए शोध के मुताबिक ऑनलाइन इंकार सुनने पर भी उतनी ही चुभन होती है जितनी अपने जीवन में ना सुनने पर होती है।

दरअसल सोशल नेटवर्किंग साइटों से लोग इस हद तक जुड़ चुके है कि उसमें होने वाली हर गतिवि‍धी का उनका जीवन में गहरा असर पड़ता है। अमेरिका में पेन्न स्टेट विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पाया कि फेसबुक जैसे सोशल नेटवर्किंग वेबसाइटों पर जब लोगों के फ्रेंड रिक्वेस्ट अस्वीकार किए जाते हैं या उन्हें नजरअंदाज किया जाता है तो वे अपने आप को ठुकराया सा महसूस करते हैं।

 

उनके दिल में इस चीज को लेकर काफी दर्द रहता है और वे उसे भूला नहीं पाते हैं। इस शोध के परिणाम कंप्यूटर्स इन ह्यूमन बिहेवियर नामक पत्रिका में प्रकाशित हुए हैं । शोधकर्ताओं ने बताया कि इसके परिणाम से यह बात सामने आयी है कि हममें बहुत सारे लोगों के लिए इंटरनेट वास्तविक दुनिया जितना ही सच्चा है ।बैंगलोर में रास्‍ता नहीं पता तो बस एक एसएमएस कीजिए

एचसीएल का मी टैबलेट मात्र 1,831 रुपए में ?एचसीएल का मी टैबलेट मात्र 1,831 रुपए में ?

मरकरी ने भारत में लांच किया 15,000 रुपए में नया टैबलेट

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X