WhatsApp के भारतीय प्रमुख ने कहा, "फेक न्यूज़ का सिलसिला होगा खत्म"

|

आजकल भारत में चुनावी मौसम चल रहा है। चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए तारीखों की घोषणा कर दी है। इसी वजह से राजनीतिक पार्टियों ने अपने प्रचार-प्रसार को तेज कर दिया है। इस बार के चुनाव में देशभर के कई लोग सोशल मीडिया की बातें कर रहे हैं। दरअसल, सोशल मीडिया को राजनीतिक पार्टियां अपना हथियार बना रही है।

WhatsApp के भारतीय प्रमुख ने कहा,
WhatsApp के भारतीय प्रमुख ने कहा, "फेक न्यूज़ का सिलसिला होगा खत्म"
Photo Credit: Devesh Jha

 

सोशल मीडिया के जरिए फेक यानि गलत और झूठी ख़बरों को फैलाकर लोगों को गुमराह करने का काम किया जा रहा है। इस फेक ख़बर की वजह से किसी को फायदा या नुकसान होने की काफी संभावना है। वहीं सबसे ज्यादा नुकसान तो जनता का ही होने वाला है।

फेक न्यूज़ का सिलसिला

सोशल मीडिया पर ऐसे कई प्लेटफॉर्म्स हैं, जिनका इस्तेमाल आम चुनाव जीतने के लिए किया जा रहा है। इनमें से एक बेहद लोकप्रिय प्लेटफॉर्म का नाम व्हाट्सऐप भी है। व्हाट्सऐप प्लेटफॉर्म के जरिए फेक न्यूज़ का सिलसिला पिछले कई महीनों से चल रहा है। जिसकी वजह से देशभर में कई घटनाएं भी सामने आई हैं। इस कारण भारत सरकार ने भी व्हाट्सऐप पर कई बार दबाव डालने की कोशिश की है कि उन्हें इसका कोई उपाय करना चाहिए।

यह भी पढ़ें:- अगर ऐसा हुआ तो भारत में बंद हो जाएगा WhatsApp

व्हाट्सऐप ने भी फेक न्यूज़ को फैलने से रोकने के लिए कई कड़े कदम उठाएं हैं और उसका फायदा भी देखने को मिल रहा है। हालांकि व्हाट्सऐप को अभी भी कई महत्वपूर्ण और कठोर कदम उठाने की जरूरत है। जिससे भारत में इस फेक न्यूज़ के खतरनाक हथियार को खत्म किया जा सके।

व्हाट्सऐप प्रमुख ने दिया आश्वासन

इस मामले में व्हाट्सऐप इंडिया के प्रमुख अभिजीत बोस ने बुधवार को कहा है कि कंपनी पूरी इमानदारी से इस बात को मानती है कि निजी संदेश सुरक्षा के लिए मूलभूत आवश्यकता है। इसके बाद उन्होंने कहा कि, "हमें खुशी है कि फेक कंटेंट के वायरल होने वाली समस्या को नियंत्रित और यूजर्स को जागरूक करने के लिए किए गए हमारे प्रयास सफल हुए हैं। हालांकि अभी यह काम पूरा नहीं है। हम अभी भी बहुत कुछ कर सकते हैं और आगे हम करेंगे।"

 

यह भी पढ़ें:- WhatsApp ने राजनीतिक दलों को दी चेतावनी, कहा नहीं मानें तो बंद हो जाएगा अकाउंट

दुनियाभर में व्हाट्सऐप के करीब 1.5 अरब मासिक सक्रिय यूजर्स हैं, जिनमें से करीब 20 करोड़ मासिक सक्रिय यूजर्स भारत में ही है। इससे साफ है कि भारत व्हाट्सऐप के लिए एक बहुत बड़ा व्यापारिक मार्केट है। ऐसे में भारत में हो रहे व्हाट्सऐप के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए कंपनी को कई कड़े कदम उठाने की जरूरत है।

ख़बरों की जांच करके ही भरोसा करें

गिज़बोट हिंदी

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

English summary
Nowadays election season is going on in India. Election Commission has announced dates for the Lok Sabha election 2019. In this election, many people from across the country are talking about social media. In fact, political parties are making their own weapons to the social media. A statement has come out to stop this feck news on Whatsapp. Let's tell you.

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more