60 सेकेंड के लिए गायब हो जाएगी परछाईं

Posted By:

कहा जाता है कि हमारी परछाई कभी भी हमारा साथ नहीं छोड़ती, मगर वर्ष में दो दिन ऐसे आते हैं, जब दोपहर में कुछ समय के लिए हमारी परछाई हमारा साथ छोड़ देती है। परछाई तब बनती है, जब प्रकाश के बीच में कोई वस्तु आ जाती है। इस तरह सूर्य के प्रकाश से पैदा हुई परछाई सूर्य के पूर्व से पश्चिम तक चलने पर पश्चिम से पूर्व की ओर खिसकती है।

पढ़ें: नरेंद्र मोदी और बराक ओबामा के पास कौन सा स्‍मार्टफोन है?

खगोलशास्त्री दिव्यदर्शन डी. पुरोहित के अनुसार, पृथ्वी के 23.5 डिग्री के झुकाव की वजह से सूर्य 23.5 डिग्री तक जाके वापस आता है। उस दौरान विषुवृत्त से कर्क वृत्त तक सूर्य के जाते समय और वापस कर्क वृत्त से विषुवृत्त तक आते समय साल में दो बार उन दोनों के बीच रहने वाली सभी वस्तुओं यानी पेड़, मकान, गाड़ी सब की परछाई गायब हो जाती है। लेकिन यह करिश्मा कर्कवृत्त से ऊपर रहने वालों को देखने को नहीं मिलता।

पढ़ें: जल्‍द घड़ी से कर सकेंगे मोबाइल कॉल

60 सेकेंड के लिए गायब हो जाएगी परछाईं

पुरोहित ने बताया कि जब सूर्य का देक्लिनेसन यानी आकाशीय ढलान हमारे शहर या गांव के लेतित्युद यानी की अक्षांस से मेल खाता है, जब सूर्य शहर के मध्यांतर रेखा पर आता है तब शहर की सारी परछाई दोपहर में पूरी तरह गायब हो जाती है।

आम धारणा है कि दोपहर 12 बजे ऐसी स्थिति बनती है, मगर ऐसा नहीं है। जब शहर या गांव के मध्यांतर रेखा पर सूर्य आता हैं तभी ऐसा होता है। उन्होंने कहा कि वड़ोदरा यह स्थिति दो और तीन जून को दोपहर बाद 12.35 बजे बनेगी। जबकि आठ और नौ जुलाई को दोपहर बाद 12.42 बजे वड़ोदरा में यह स्थिति बनेगी।

Read more about:
प्रिया वारियर सुप्रीम कोर्ट की शरण में, फिल्म और अपने ऊपर केस के खिलाफ याचिका की दायर
प्रिया वारियर सुप्रीम कोर्ट की शरण में, फिल्म और अपने ऊपर केस के खिलाफ याचिका की दायर
ऑनस्क्रीन मां से खत मिलने पर भावुक हुए महानायक अमिताभ बच्चन, फैंस के साथ किया शेयर
ऑनस्क्रीन मां से खत मिलने पर भावुक हुए महानायक अमिताभ बच्चन, फैंस के साथ किया शेयर
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot