इंग्लिश ग्रामर को पूरी तरह से ठीक करेगा गूगल का नया ऐप

    हम सभी को कई बार काफी जरूरी मेल किसी को भेजनी होती है। जिसमें हम अंग्रेजी भाषा का ही इस्तेमाल करते हैं। ऐसे में कई बार ऐसा होता है कि हमारे लिखे हुए वाक्य में ग्रामर यानि व्याकरण की गलतियां हो जाती हैं। जिससे हमें शर्मिंदी महसूस होती है, लेकिन गूगल ने आपकी इस समस्या का हल निकाल लिया है। अपने अगले अपडेट स्प्री के चलते Google ने अपने जी सूट ऐप्स में कई नए फीचर को जोड़ा है। सभी फीचर को खासतौर पर Google डॉक्स के लिए लाया गया है। इनमें से एक फीचर AI-assisted grammatical चैकिंग का भी है।

    इंग्लिश ग्रामर को पूरी तरह से ठीक करेगा गूगल का नया ऐप

    अंग्रेजी को ठीक करेगा गूगल

    यह नया फीचर मशीन लर्निंग पर काम करेगा जो यूजर्स को उनके दस्तावेज़ों में हुई व्याकरण संबंधी गलतियों को दिखाकर उन्हें ठीक करने में मदद करेगा। इतना ही नहीं, बाकी जी सूट ऐप्स में सुरक्षा केंद्र जांच उपकरण, डेटा क्षेत्र और Hangouts को वॉइस कमांड मिलने का फीचर जोड़ा गया है। गूगल ने अपने इस नए फीचर पर टिप्पणी करते हुए कहा कि डॉक्स में नया ग्रामर चैकिंग टूल मशीन लर्निंग पर आधारित होगा और इसमें समय के काफी नए और बेहतर परिवर्तन होते रहेंगे।

    अंग्रेजी लिखते वक्त मिलेगा सुझाव

    यह फीचर गलतियों का पता लगाएगी और इसके साथ-साथ गलतियों को खत्म करने के लिए आवश्यक परिवर्तन का भी सुझाव देगी। इतना ही नहीं, यूजर्स को नए फीचर के चलते ग्रामर में हुई गलतियों को सुधारने के लिए संकेत मिलेगा जैसे अपने वाक्य में आर्टिकल का इस्तेमाल कैसे करें, ज्यादा मुश्किल जटिल व्याकरणिक अवधारणाओं जैसे कि अधीनस्थ खंडों (Subordinate clauses) का सही तरीके से उपयोग कैसे करें। बता दें, कि यह फीचर उन लोगों के लिए पहले से ही उपलब्ध है जिन्होंने एडॉप्टर प्रोग्राम के लिए साइन अप किया है। Google डॉक्स जी सूट में एकमात्र एप्लिकेशन नहीं है जिसे एक नया अपडेट मिला है। Google Hangouts अब स्मार्ट रिप्लाई फीचर के साथ आता है जो यूजर्स को स्मार्ट सुझाव देने में मदद करेगा। यह फीचर Hangouts यूजर्स को जल्द ही एक सप्ताह के भीतर उपलब्ध होगी।

    G-mail में होगी सही अंग्रेजी

    Hangouts मीट से वॉइस कमांड को जोड़े जाने की बात कही जा रही है लेकिन यह सिर्फ चुनिंदा लोगों तक ही सीमित होगी। जीमेल अब स्मार्ट कंपोज़ के न्यू एडिशन के साथ आता है। AI-based फीचर यूजर्स को जल्दी सुझाव के आधार पर अपने ईमेल ऑटोकंपीट करने की अनुमति देती है। यह सुविधा ग्रीटिंग, साइन-ऑफ और कॉमन वाक्यांशों को भरने में सक्षम होगी। यह आपको आपके एड्रेस और बाकी जरूरी चीजों को ईमेल में भरने में मदद करेगा।

    गूगल का नया Cloud Build फीचर

    Google ने Cloud Build नाम के एक और फीचर को रिलीज किया है। यह नया फीचर डेवलपर्स का अपना सॉफ्टवेयर बनाने के लिए टेस्टिंग और डिप्लोइंग के काम में मदद करता है। यह वीएम, सर्वरलेस, कुबेरनेट, या फायरबेस जैसे वातावरण पर काम करता है। Google ने बीटा परीक्षण के दो साल बाद क्लाउड बिल्ड प्लेटफॉर्म की घोषणा की है। Google अपने संपर्क केंद्र एआई सॉफ्टवेयर के चलते कॉल सेंटर में “virtual agents” स्थापित करना चाहता है जो पूरी तरह से कॉल सेंटर के कुछ कामों को रिप्लेस करेगा।

    Read more about:
    English summary
    Google has added a number of new features to its suite of suites. All features have been specifically brought to Google Docs. One of these features is also AI-assisted grammatical checking. This new feature will work on machine learning which will help users correct their grammatical errors in their documents.
    भारत का अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक पोल. क्या आपने भाग लिया?
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more