हैकर्स तैयार कर सकते हैं खतरनाक माइंड वॉयरस

|
हैकर्स तैयार कर सकते हैं खतरनाक माइंड वॉयरस

विशेषज्ञों ने आशंका जताई है कि वह दिन भी दूर नहीं जब कम्प्यूटर वाइरस का प्रयोग इंसानों के दिमाग को प्रभावित करने में किया जाएगा। वॉयरस को बनाने वाले हैकर्स ऐसा वॉयरस भी बना सकते हैं जो इंसानी दिमाग को प्रभावित करे।

हैकर्स सिंगुलैरिटी यूनिवर्सिटी के एंडयू हेसेल के मुताबिक, सिंथेटिक जीव विज्ञान के तेजी से विकास करने के कारण हैकर्स इंसानी दिमाग को काबू में करने वाले बैक्टीरिया और वाइरस तैयार कर सकते हैं। उन्होंने कहा, यह दुनिया के सबसे शक्तिशाली तकनीकों में से है। मेरे अनुसार, कोशिकाएं जिंदा कम्प्यूटर हैं और डीएनए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज।

 

डेली मेल की खबर के अनुसार हैसल ने कहा, विज्ञान तेजी से विकास कर रहा है यहां तक यह कम्प्यूटर प्रोद्यौगिकी से भी तेजी से विकास करेगा। उन्होंने कहा कि एक समय ऐसा आएगा जब लोग डीएनए को प्रिंट और डिकोड भी कर सकेंगे लेकिन उन्होंने चेतावनी दी कि इसका इस्तेमाल दूसरों के दिमागों को प्रभावित करने में भी किया जा सकता है।वैज्ञानिकों ने बनाया दुनिया का सबसे छोटा माइक्रोफोन

किडनी बेचकर खरीदा एप्‍पल आईपैड

एयरटेल ने शुरू की प्रीपेड ग्राहकों के लिए नई सेवा

 
Best Mobiles in India

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X