जियो फोन के लांच में हिन्‍दी में बोले मुकेश अंबानी, सुनिए पूरी स्‍पीच यहां

Written By:

कल एक बार फिर रिलायंस ने अपना नया जियो फोन 0 रुपए में लांच करके टेलिकॉम कंपनियों के साथ फीचर फोन बाजार में तहलका मचा दिया।

पढ़ें: कब कैसे और कहां करें फोन प्री-बुक

हर साल होने वाली AGM को संबोधित करते हुए मुकेश अंबानी ने नए फोन देश का फोन कहते हुए कंपनी के कारोबार से जुड़ी कई बाते साझा कीं, अपने भाषण के दौरान उन्‍होंने कहा मोबाइल डाटा यूज करने के मामले में भारत ने दुनिया के सभी देशों को पीछे छोड़ दिया है यहां तक अपनी टेक्‍नालॉजी के दम पर शेखी मारने वाले चीन और अमेरिका को भी पीछे छोड़ दिया है।

पढ़ें: रिलायंस जियो AGM 2017 लाइव : 4जी जियो फोन फ्री में मिलेगा

जियो फोन में वैसे तो लगभग सभी फीचर दिए गए हैं जो एक फोन यूजर को चाहिए लेकिन इसमें दिया गया एक खास फीचर महिलाओं की सुरक्षा को ध्‍यान में रखकर दिया गया है वो है SOS का फीचर, अगर कोई महिला कभी खुद को किसी मुसीबत में पाती है तो जियो फोन में दिए गए 5 नंबर को दबाकर वो मदद मांग सकती है। 

इस नंबर को दबाने के बाद उस महिला की लोकेशन फोन में पहले से सेव नंबर पर चली जाएगी जिससे उसकी लोकेशन का पता आसानी से लगाया जा सकता है इसके अलावा महिला सिर्फ एक नाम बोलकर इमरजेंसी संदेश भेज सकती है।

पढ़ें:इंडिया का 4जी स्मार्टफोन, 24 अगस्त से प्री-बुकिंग और कीमत 0 रु

जियो फोन लांच कि दौरान कुछ भवुक पल भी रहे जब वे कंपनी की कुछ यादों के बारे में बात कर रहे थे उसी दौरान उनकी मां कोकिला बेन की आखें नम हो गई। मुकेश अंबानी के पूरे भाषण को यूट्यूब और दूसरे कई प्‍लेटफार्म पर लाइव दिखाया गया। अगर आप उनका भाषाण नहीं सुन सके हैं तो यू ट्यूब पर अंग्रेजी भाषा के साथ हिन्‍दी में पूरा भाषण फिर से सुन सकते हैं।



English summary
Sh. Mukesh Ambani, Chairman and Managing Director of Reliance Industries Ltd., announces the Jio Phone at its 40th AGM watch full Speech in Hindi.
Please Wait while comments are loading...
  आधार को बैंक खाते या मोबाइल से लिंक करवे वक्त रखें ये सावधानी, वरना खाता हो जाएगा खाली
आधार को बैंक खाते या मोबाइल से लिंक करवे वक्त रखें ये सावधानी, वरना खाता हो जाएगा खाली
एयरटेल लेकर आया तगड़ा ऑफर, 7777 देकर पा सकते हैं आईफोन
एयरटेल लेकर आया तगड़ा ऑफर, 7777 देकर पा सकते हैं आईफोन
Opinion Poll

Social Counting