ये क्‍या 6 महिने में केवल 366 आकाश टैबलेट मिल पाए

Posted By:

ये क्‍या 6 महिने में केवल 366 आकाश टैबलेट मिल पाए

इसे सरकार की बेरुखी कहें या फिर अनदेखी मगर दुनिया का सबसे सस्‍ता टैबलेट 6 महिने गुजर जाने के बाद भी छात्रों तक नहीं पहुंच पाया है। आपको जानकर हैरानी होगी इन 6 महिनों में केवल 366 आकाश टैबलेट छात्रों  तक पहुंच पाये हैं।

जबकि सरकार आकाश के डिस्‍ट्रीब्‍यूशन और डेवलपमेंट पर करीब 250 करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है। करोड़ों रुपए खर्च होने के बावजूद आकाश टैबलेट का अभी तक कोई अता पता नहीं है। मगर  सोचने की बात यह है केवल 366आकाश टैबलेट की क्‍यूं डिस्‍ट्रीब्‍यूट हो पाए हैं।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल से इस बारे में पुछने पर पता चला जिन  366 टैबलेट को आईआईटी राजस्‍थान ने एप्रूव किया था केवल वही टैबलेट ही छात्रों को दिए गए हैं, दरअसल डेटाविंड ने आईआईटी राजस्‍थान को 6440 टैबलेट सप्‍लाई किए थो जिसमें से उसने केवल 650 यूनिट ही पास की गईं और उनमें से 366 यूनिट छात्रों तक पहुंच पाई।

जो भी हो मगर इससे सबसे ज्‍यादा नुकसान उन छात्र-छात्राओं को हो रहा है जो आकाश टैबलेट की आस लगाए हुए हैं।

 

रिलायंस का गूगल से करार, उपभोक्‍ताओं को मिलेगा 1 जीबी डेटा फ्री

आकाश को बनाने वाली डाटाविंड हुई नाराज, भेजा नोटिस

वोडाफोन की नई सेवा से दूसरे शहर में भी मिलेगी अपने शहर की सर्विस

Please Wait while comments are loading...
मिशन 2019: 20 फीसदी गरीबों के लिए पीएम मोदी की 'सुपरस्‍कीम', जानें खास बातें
मिशन 2019: 20 फीसदी गरीबों के लिए पीएम मोदी की 'सुपरस्‍कीम', जानें खास बातें
एयरटेल लेकर आया तगड़ा ऑफर, 7777 देकर पा सकते हैं आईफोन
एयरटेल लेकर आया तगड़ा ऑफर, 7777 देकर पा सकते हैं आईफोन
Opinion Poll

Social Counting