ये क्‍या 6 महिने में केवल 366 आकाश टैबलेट मिल पाए

|

ये क्‍या 6 महिने में केवल 366 आकाश टैबलेट मिल पाए

 

इसे सरकार की बेरुखी कहें या फिर अनदेखी मगर दुनिया का सबसे सस्‍ता टैबलेट 6 महिने गुजर जाने के बाद भी छात्रों तक नहीं पहुंच पाया है। आपको जानकर हैरानी होगी इन 6 महिनों में केवल 366 आकाश टैबलेट छात्रों  तक पहुंच पाये हैं।

जबकि सरकार आकाश के डिस्‍ट्रीब्‍यूशन और डेवलपमेंट पर करीब 250 करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है। करोड़ों रुपए खर्च होने के बावजूद आकाश टैबलेट का अभी तक कोई अता पता नहीं है। मगर  सोचने की बात यह है केवल 366आकाश टैबलेट की क्‍यूं डिस्‍ट्रीब्‍यूट हो पाए हैं।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल से इस बारे में पुछने पर पता चला जिन  366 टैबलेट को आईआईटी राजस्‍थान ने एप्रूव किया था केवल वही टैबलेट ही छात्रों को दिए गए हैं, दरअसल डेटाविंड ने आईआईटी राजस्‍थान को 6440 टैबलेट सप्‍लाई किए थो जिसमें से उसने केवल 650 यूनिट ही पास की गईं और उनमें से 366 यूनिट छात्रों तक पहुंच पाई।

जो भी हो मगर इससे सबसे ज्‍यादा नुकसान उन छात्र-छात्राओं को हो रहा है जो आकाश टैबलेट की आस लगाए हुए हैं।

रिलायंस का गूगल से करार, उपभोक्‍ताओं को मिलेगा 1 जीबी डेटा फ्री

आकाश को बनाने वाली डाटाविंड हुई नाराज, भेजा नोटिस

वोडाफोन की नई सेवा से दूसरे शहर में भी मिलेगी अपने शहर की सर्विस

Most Read Articles
 
Best Mobiles in India

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X