Video: स्क्रैच, बैंड और जलाने के बाद, ऐसा हुआ सैमसंग Galaxy Note 8 का हाल

Written By:

सैमसंग अपने फ्लैगशिप Galaxy Note 8 को पिछले दिनों लॉन्च कर दिया। बता दें कि ये फोन कंपनी के लिए काफी खास रहा है, क्योंकि Galaxy Note 7 की फेलियर के बाद कंपनी एक बार फिर यूजर्स का भरोसा जीतने की पूरी कोशिश कर रही है। कंपनी इस बार अपने इस फ्लैगशिप फोन के साथ बिल्कुल भी रिस्क नहीं लेना चाहती है, इसीलिए फोन में सिक्योरिटी फीचर्स का पूरा ध्यान रखा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस फोन को इन-हाउस 8 प्‍वाइंट बैटरी टेस्‍ट के जरिए सुरक्षा जांच को और मजबूत बनाया है।

Video: स्क्रैच, बैंड और जलाने के बाद, ऐसा हुआ सैमसंग Galaxy Note 8 का हाल

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

Galaxy Note 8 में फ्लैगशिप फीचर्स-

कंपनी ने फोन को पेश करते समय इसे लेकर कई दावे किए थे और कई यूनिक फीचर भी पेश किए थे। Note 8 में भी 6.2 इंच का डिस्‍प्‍ले, S Pen और 'Bixby' वॉइस असिस्‍टेंट दिया गया है। खैर ये तो हो गए कंपनी के दावे, लेकिन हाल ही में इस फोन को रियल ड्युरेबिलिटी टेस्ट में चैक किया गया। फोन की अग्नि परीक्षा से गुजरने पर इसका क्या हाल हुआ ये देखना चाहते हैं, तो हो जाइए हमारे साथ शामिल।

पढ़ें- Video : स्मार्टफोन तो बहुत इस्तेमाल कर लिया, अब स्मार्ट क्लॉथ का है जमाना

फोन के बर्न, स्क्रैच और बैंड टेस्ट-

इन दिनों फोन के टियरडाउन सामने आते रहते हैं, जिनमें फोन के इंटरनल हार्डवेयर का हाल दिखाया जाता है, लेकिन सैमसंग Galaxy Note 8 को बर्न, बेंड और स्क्रैच टेस्ट में जाने-माने यूट्यूबर में से एक JerryRigEverything ने चैक किया। ये तीनों एक्सपेरिमेंट में सैमसंग का ये फ्लैगशिप डिवाइस हुआ इन या हो गया आउट, जानिए यहां।

पढ़ें- एंटी स्पैम ऐप इंस्टॉल करने से ऐपल का इंकार, अब क्या फैसला लेगी सरकार

Scratch Test-

कोई भी स्मार्टफोन कंपनी फोन को लॉन्च करते समय अक्सर यही बातें करती है कि फोन के कैमरा लैंस और डिस्प्ले को स्क्रैच करने पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। जब यूजर्स फोन को इस्तेमाल करते हैं, तो कई सुरक्षा के बाद भी फोन चाबी, पेन और बाकी नुकीली चीजों से स्क्रैच बन जाते हैं। गैलेक्सी नोट 8 स्कैच टेस्ट में कितना खरा उतरता है, ये देखने के लिए इसे 9 लेवल स्क्रैच टेस्ट से गुजारा गया। लेवल 5 तक इस स्मार्टफोन पर स्क्रैच नहीं पड़े थे, लेकिन लेवल 6 पर फोन में स्कैच नजर आने लगे। बता दें कि फोन में गोरिल्ला ग्लास प्रोटेक्शन दिया गया है। इसके बाद फ्रंट कैमरा और स्पीकर ग्रिल्स स्क्रैच टेस्ट किया गया, लेकिन स्पीकर ग्रिल काफी मजबूत मैटल के हैं, जिसके चलते स्पीकर ग्रिल पर कोई स्क्रैच नजर नहीं आया। इसके बाद फोन के S पेन का इस टेस्ट में काफी बुरा हाल हुआ। S पेन पर आसानी से स्क्रैच बन गए और इसका सर्फेस प्लास्टिक का है, जो आसानी से निकाला और तोड़ा जा सकता है। फोन के बैक कवर और कैमरा लैंस पर कोई स्क्रैच का कोई असर नहीं हुआ। फोन के बैक में फिंगर प्रिंट ग्लास स्क्रैच से पूरी तरह से डैमेज हो गया, वहीं फोन के बैक कैमरा और फ्लैश ग्लास को स्कैच से कोई नुकसान नहीं हुआ। फोन के एज पर भी आसानी से स्क्रैच मार्क नजर आने लगे। कुल मिलाकर फोन स्कैच टेस्ट पास नहीं कर सका।

Bend Test-

Galaxy Note 8 का दूसरा टेस्ट था बैंड टेस्ट यानी इसे मोड़कर देखा जाएगा कि क्या ये बीच से टूटता है, क्रैक होता है या इसकी स्क्रीन में किसी तरह का कोई मार्क बनता है। इस टेस्ट में यूट्यूबर ने पूरी जान लगाकर इस फोन को मोड़ने की कोशिश की, लेकिन फोन को कुछ फर्क नहीं पड़ा। इस टेस्ट के बाद भी फोन में कोई फर्क नहीं पड़ा और वह अच्छी तरह से काम करता दिखाई दिया। इन टेस्ट के बाद कहा जा सकता है कि Galaxy Note को प्रोटेक्टिव केस की जरूरत नहीं पड़ेगी।

पढे़ं- खत्म हुआ IFA 2017 टेक शो ये हैं लॉन्च हुए बेस्ट प्रॉडक्ट

Burn Test-

Galaxy Noteका तीसरा और सबसे खतरनाक टेस्ट था बर्न टेस्ट। Galaxy Note 8 को दस सैकेंड के बर्न टेस्ट में रखा गया। इसके लिए फोन की स्क्रीन को लाइटर के जरिए एक ही जगह पर फ्लेम के साथ बर्न टेस्ट किया गया। फ्लेम हटाने पर स्क्रीन पर एक वाइट स्पॉट बन गया। शायद ये फोन का परमानेंट बर्न मार्क था, जो काफी देर बाद भी रिकवर नहीं हो सका। Galaxy Note 8 3 तीन में से सिर्फ एक टेस्ट सक्सेसफुली पास कर सका।

पढे़ं- इंडिया में है एशिया का सबसे बढ़ा लैपटॉप मार्केट, किलो के भाव मिलते हैं लैपटॉप


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

यहां देखिए सैमसंग Galaxy Note 8 का स्क्रैच, बैंड और बर्न टेस्ट...



English summary
Samsung Galaxy Note 8 go through a durability test. For more detail read in hindi.
Please Wait while comments are loading...
बुलेट ट्रेन को हिंदी में क्‍या कहते हैं, इस सवाल पर गुस्‍सा गए अरुण जेटली
बुलेट ट्रेन को हिंदी में क्‍या कहते हैं, इस सवाल पर गुस्‍सा गए अरुण जेटली
JNU में भी मां दुर्गा को कहा गया था 'सेक्स वर्कर', जिसने हनीमून मनाने के बाद महिषासुर को मारा था
JNU में भी मां दुर्गा को कहा गया था 'सेक्स वर्कर', जिसने हनीमून मनाने के बाद महिषासुर को मारा था
Opinion Poll

Social Counting