चीन में शादी टूटने का कारण बन रहे हैं स्मार्टफोन

Posted By:

    चीन के मौजूदा हालात को देखकर लगता है कि वहां अगली पीढ़ी के सामने सबसे महत्वपूर्ण सवाल अपने जीवनसाथी और अपने स्मार्टफोन में से किसी एक को चुनना होगा। ऑल चाइना वुमन फेडरेशन (एसीडब्ल्यूएफ) द्वारा किए गए एक हालिया सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है कि करीब 60 फीसदी विवाहित लोगों की शिकायत है कि स्मार्टफोन का इस्तेमाल उनके वैवाहिक रिश्ते में घुसपैठिये का काम कर रहा है।

    पढ़ें: ब्‍लैकबेरी लीप : एक साथ 9 नंबर चलेंगे इस स्‍मार्टफोन में

    चीन में शादी टूटने का कारण बन रहे हैं स्मार्टफोन

    सर्वेक्षण के मुताबिक, "मोबाइल इलेक्ट्रॉनिक उपकरण चीन में प्यार का इलेक्ट्रॉनिक शत्रु बन बैठा है। स्मार्ट फोन के इस्तेमाल की लत वैवाहिक संबंधों, बच्चों के साथ माता-पिता के संबंधों और निजी स्वास्थ्य तक में दरार डालने का कारण बन रही है।"

    वाशिंगटन पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, कम्युनिस्ट पार्टी के महिला संगठन ने 28 साल से कम आयु वाले 13,000 लोगों से बातचीत की, जिसमें से 43 फीसदी ने यह स्वीकार किया कि परिवार के साथ होने या जीवनसाथी से बातचीत के दौरान भी वे अपने मोबाइल फोन में व्यस्त होते हैं।

    पढ़ें: दिल्ली मेट्रो यात्रियों को देगा वाई-फाई सुविधा

    एक तिहाई से ज्यादा लोगों का कहना था कि वे अपने बच्चों को शांत और चुप रखने के लिए मोबाइल फोन का इस्तेमाल करते हैं। दो तिहाई के करीब लोगों का मानना था कि वे रात को बिस्तर पर भी मोबाइल फोन के साथ सोते हैं और बत्ती बुझाने के बाद भी मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं।

    यह सर्वेक्षण पार्टी के नेतृत्व में दशकों के सामाजिक उथल-पुथल और सामाजिक परिवर्तन के परिणामस्वरूप बिखर रहे पारिवारिक संबंधों को मजबूत करने के उद्देश्य से किया गया था।

    English summary
    s your marriage getting worse? Your smartphone might be to blame, according to a report released by the All-China Women’s Federation (ACWF) which found that in married homes as evening mobile phone use went up, satisfaction with one’s marriage went down.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more