अब आपको खिड़की से ताजी हवा के साथ मिलेगी बिजली, वो भी बिल्कुल फ्री

|

अगर हम आपसे कहें कि आप अपने घरों में लगी खिड़की से बिजली पैदा कर सकते है तो शायद आपको ये मजाक लगे और आप हंसे। पर हम मजाक नहीं कर रहें है, आज के समय में टेक्नोलॉजी इतनी आगे बढ़ रही है जिसको समझ पाना थोड़ा मुश्किल हो सकता है।

 

आपका स्मार्टफोन क्यों होता है ब्लास्ट?आपका स्मार्टफोन क्यों होता है ब्लास्ट?

अब आपको खिड़की से ताजी हवा के साथ मिलेगी बिजली, वो भी बिल्कुल फ्री

क्या आपको भी आया है SBI की तरफ से ये मैसेज? इसके झांसे में न आएंक्या आपको भी आया है SBI की तरफ से ये मैसेज? इसके झांसे में न आएं

वही बिजली का बिल हो या फिर पावर सप्लाई, दोनों ही एक बड़ी आबादी के लिए आज भी परेशानी बना हुआ है। कई क्षेत्रों में पर्याप्त पावर सप्लाई नहीं है, तो कहीं पर बिजली के बिल से लोग परेशान है। ऐसे में सोलर पावर उनकी समस्या को हल कर सकती है। हर किसी के घर में खिड़की तो होती ही है और उसपर कांच भी लगा होता है यदि इस कांच के माध्यम से हम बिजली पैदा कर सकें, तो हमारा बिजली बिल कम हो सकता है साथ ही पावर सप्लाई के लिए हमे एक और सोर्स मिल सकता है।

अब आप लें पाएंगे स्वच्छ हवा! क्योंकि आ गया है एंटी पॉल्यूशन हेलमेटअब आप लें पाएंगे स्वच्छ हवा! क्योंकि आ गया है एंटी पॉल्यूशन हेलमेट

क्या है ये टेक्नोलॉजी?

खिड़की के शीशे की बिजली आपूर्ति की बात अब आपको काल्पनिक और अजीब लग सकती है, लेकिन आने वाले टाइम में यह सच हो सकता है। हम बात कर रहे है ट्रांसपैरेंट सोलर पैनल की, जो एक कटिंग-एज टेक्नोलॉजी की, इस तकनीक की मदद से खिड़कियों और बालकनियों से आने वाली धूप का इस्तेमाल बिजली पैदा करने के लिए किया जा सकता है।

जेनेट जैक्सन के पास है लैपटॉप और कंप्यूटरों को क्रैश करने की शक्तिजेनेट जैक्सन के पास है लैपटॉप और कंप्यूटरों को क्रैश करने की शक्ति

शोधकर्ताओं ने इस क्षेत्र में बहुत काम किया है। उनमें से ज्यादातर ट्रांसपेरेंट सोलर कॉन्सेंट्रेटर की तरह काम करते है। इसका मतलब है कि ये पैनल्स स्पेसिफिक UV और इंफ्रारेड लाइट्स वेवलेंथ्स को सोख लेते है, जो हमें दिखाई नहीं देती। इन वेवलेंथ्स को एनर्जी में बदलकर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

क्या आप जानते हैं हर साल कितने उल्कापिंड पृथ्वी से टकराते हैं? अगर नहीं तो यहां जानेक्या आप जानते हैं हर साल कितने उल्कापिंड पृथ्वी से टकराते हैं? अगर नहीं तो यहां जाने

वैज्ञानिकों ने बनाया है पारदर्शी शीशा

इस तकनीक को फोटोवोल्टिक ग्लास ( Photovoltaic Glass भी कहा जाता है। 2014 में, मिशिगन स्टेट यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने पहला पूर्ण पारदर्शी सौर सांद्रक विकसित किया, जो एक कांच की शीट या खिड़की को पूरी तरह से PV Cell में बदल सकता है।
2020 तक, अमेरिका और यूरोप के वैज्ञानिकों ने 100 प्रतिशत पारदर्शी सौर कांच का उत्पादन किया है, जो हमें इस परिकल्पना के और भी करीब लाता है। यह तकनीक हमारे लिए बहुत मददगार है।

दुनिया की पहली ट्रैन, जो देती है जमीन नहीं बल्कि हवाई यात्रा का मजादुनिया की पहली ट्रैन, जो देती है जमीन नहीं बल्कि हवाई यात्रा का मजा

अब आपको खिड़की से ताजी हवा के साथ मिलेगी बिजली, वो भी बिल्कुल फ्री

हो सकता है बिजली से जुड़ी एक बड़ी समस्या का समाधान

यह कहना गलत नहीं होगा ग्लास का इस्तेमाल आजकल लगभग हर जगह किया जाता है। बड़ी-बड़ी इमारतों में पूरी दीवार शीशे की बनी होती है, जिस पर आसानी से इस तकनीक का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस तरह आने वाले समय में कम बिजली से जुड़ी एक बड़ी समस्या का समाधान किया जा सकता है।

ये छोटा सा डिवाइस बिना बिजली के चलाएगा फ्रिज, टीवी, AC , बिक रहा है इतना सस्ता, जल्दी करेंये छोटा सा डिवाइस बिना बिजली के चलाएगा फ्रिज, टीवी, AC , बिक रहा है इतना सस्ता, जल्दी करें

 
Best Mobiles in India

English summary
Solar Windows; Transparent Solar Glass May Reduce Your Home Electricity Bill: If we tell you that you can generate electricity from windows in your homes, then you might find this funny and you would laugh. But we are not joking, in today's time technology is progressing so much that it can be a bit difficult to stop and understand.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X