इंटरनेट पर फैलने वाली फेक न्‍यूज़ को कैसे पकड़ें

Written By:
How to Stop seeing iritating posts on facebook? (Hindi)

अगर आप इंटरनेट पर वायरल होने वाली फेक न्‍यूज से हम सभी तंग आ चुके हैं। ये न्‍यूज़ कई बार हमें गलत जानकारी देकर गुमराह कर देती हैं और दूसरों के सामने झूठा साबित कर देती हैं।

इंटरनेट पर फैलने वाली फेक न्‍यूज़ को कैसे पकड़ें

हाल ही में करीना कपूर को बेटा होने और ट्रंप की जीत में फ्रांस द्वारा हैकिंग जैसी खबरें छाई हुई हैं। ये सभी जानकारियां झूठी हैं क्‍योंकि इन्‍हें आधिकारिक रूप से प्रसारित नहीं किया गया, बल्कि सनसनी न्‍यूज के तौर पर पेश किया गया था।

एयरटेल इनफिनिटी प्लान पेश: अनलिमिटेड वॉयस कॉल, रोमिंग फ्री इनकमिंग, डाटा और भी

परन्‍तु हर बार आपको कोई नहीं बता सकता है कि कौन सी न्‍यूज सच्‍ची है और कौन सी झूठी। ऐसे में आपको खुद ही इन खबरों पर कड़ी निगाह बनानी होगी और जानना होगा कि कौन सी खबर में कितनी सच्‍चाई है। आइए डालते हैं एक नज़र कि किस प्रकार किसी खबर की सच्‍चाई को पता किया जा सकता है:

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

बेकार की वेबसाइट पर क्लिक न करें

जो भी वेबसाइट Lo, .Co.com, Com.co से खत्‍म होती है यानि उनके यूआरएल में ऐसे शब्‍द अंत में आते हैं तो उन पर क्लिक न करें। बेकार की वेबसाइट में सनसनी फैलाने के लिए ऐसी खबरों को पेश किया जाता है।

नए लैपटॉप की बेस्ट ऑनलाइन डील्स के लिए यहाँ क्लिक करें

आर्टिकल में राइटर का नाम न होना

अगर किसी स्‍टोरी में राइटर का नाम और उसकी प्रोफाइल न दी गई हो, तो आप उन खबरों पर बिल्‍कुल भी भरोसा न करें। वो खबरें झूठी भी हो सकती है।

कई स्‍टोरी में एक ही नाम

अगर आप कोई इन्‍वेस्टिगेटिव साइट देखते हैं तो उसमें एक ही राइटर के नाम पर दिन में कई पब्लिश स्‍टोरी होती हैं तो आप समझ जाएं ये कि साइट सिर्फ व्‍यवसायिक उद्देश्‍य के लिए चलाई जा रही है, इसका सच्‍चाई से कम ही लेना देना होगा।

दूसरे स्‍त्रोतों से पता करें

आप दूसरे स्‍त्रोतों से या गूगल की न्‍यूज से पता कर लें कि क्‍या ये वाकई में सच है। अगर किसी सही और नामी वेबसाइट या अखबार में उस बात की जानकारी दी जाती है तभी उस खबर पर भरोसा करें।

नए स्मार्टफोन की बेस्ट ऑनलाइन डील्स के लिए यहाँ क्लिक करें


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

English summary
Here's how to spot a fake news on Facebook, Google, Twitter easily.
BJP के नए दफ्तर के उद्धघाटन के दौरान 6 नेताओं से नहीं खिंची शिलापट की डोर, तब राजनाथ आए आगे
BJP के नए दफ्तर के उद्धघाटन के दौरान 6 नेताओं से नहीं खिंची शिलापट की डोर, तब राजनाथ आए आगे
मोदी 'काल' का पहला बैंक घोटाला नहीं है पीएनबी
मोदी 'काल' का पहला बैंक घोटाला नहीं है पीएनबी
Opinion Poll

Social Counting

पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot