वायरल फेक न्यूज की ऐसे करें पहचान, कभी नहीं होगा धोखा

Written By:

सोशल मीडिया इस समय जितना अपनी बात दुनिया के सामने रखना है, उससे कहीं ज्यादा खबरों जानकारियों को लोगों तक पहुंचाने का प्लेटफॉर्म बन चुका है। हर दूसरे दिन आपके वॉट्सएप या फेसबुक अकाउंट में कोई न्यूज आती है, जिसमें कहीं भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लैपटॉप बांट रहे होते हैं, तो कहीं शाहरुख खान की मौत की खबर सामने आती है। हद तो तब हो जाती है, जब वॉट्सएप पर ही वॉट्सएप के बंद होने की फेक खबर वायरल हो जाती है।

पढ़ें- क्यों दुनिया का पहला यूनिक स्मार्टफोन है asus zenfone ar

वायरल फेक न्यूज की ऐसे करें पहचान, कभी नहीं होगा धोखा

अगर आप स्मार्टफोन यूजर हैं, तो आप भी कभी न कभी इस फेक न्यूज के चक्कर में जरूर फंसे होंगे। फेक न्यूज पर रिएक्ट करने वाले स्मार्टफोन यूजर्स दो तरह के होते हैं, एक वो जिन खबरों की असलियत जानने की कोशिश करते हैं खबर के असली और नकली होने का पता लगाते हैं, वहीं दूसरे यूजर्स वो होते हैं, जिनकी नैतिक जिम्मेदारी इस वायरल न्यूज को महावायरल बनाना होती है।

पढ़ें- फोन कैमरा यूज करने के ये 7 स्मार्ट वे क्या जानते हैं आप ?

ज्यादातर लोग दूसरे टाइप की कैटेगिरी में आते हैं। यहां हम आपको सोशल मीडिया पर वायरल होने वाली फेक न्यूज की कैसे पहचान करना बता रहे हैं, साथ ही ये भी कि कहां से और कैसे पैदा होती हैं ये फेक न्यूज।

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

कैसे वायरल होती हैं फेक न्यूज-

फेक न्यूज कई तरीके की होती हैं और इनके निर्माता भी अलग-अलग होते हैं। किसी पॉलिटीकल पार्टी से जुड़ी फेक खबरें अक्सर सोची समझी प्लानिंग के तहत वायरल की जाती हैं। यहां हम सामान्य वायरल खबरों की बात कर रहे हैं, तो बता दें कि इस तरह की खबरें बस यू हीं लाइक, शेयर बढ़ाने और कई बार इनके जरिए वायरस अटैक के लिए वायरल की जाती हैं।

कैसे करें फेक न्यूज की पहचान-

कई बार सोशल मीडिया पर कई ऐसी खबरें वायरल हो जाती हैं, जिनकी असली और नकली की पहचान करना मुश्किल होता है। ऐसे में आप सबसे पहले गूगल का सहारा लें और खबर को आगे फॉरवर्ड या शेयर करने के पहले खबर को गूगल सर्च करें। आपको पूरी तरह न सही, लेकिन काफी हद तक आइडिया हो जाएगा कि खबर सच है या फेक न्यूज आपके सामने पेश कर दी गई है।

फोटोशॉप पर ध्यान दें-

अगर कोई वायरल खबर इमेज के साथ आपके सामने आई है, तो ध्यान दें कि इमेज में किस हद तक कितना फॉटोशॉप किया गया है। कई बार फेक पिक्चर को रियल दिखाने के लिए इतना ज्यादा एडिट कर दिया जाता है कि वह नॉर्मल फोटो से बड़ी हो जाती है और अंतर साफ पहचान में आता है। फेक खबरों को अक्सर बहुत बुरे तरह से रीडिजाइन किया गया होता है, जिसे ध्यान से देखने पर पहचाना जा सकता है।

लिंक के साथ वायरल मैसेज-

अक्सर स्मार्टफोन यूजर्स के पास ऐसे मैसेज आते हैं, जिनमें लिंक मौजूद होती है। उस लिंक पर क्लिक करवाने के लिए कई तरह के मैसेज होते हैं, जैसे लिंक पर क्लिक करके वॉट्सएप का अपडेट वर्जन लें, सरकार की किसी स्कीम का लाभ उठाएं या किसी सरकारी योजना की जानकारी लें। ऐसी लिंक आपको सिर्फ जाल में फंसाने के लिए भेजी जाती हैं और इन्हें बिना सोचे-समझे डीलिट करना ही समझदारी होती है।

कैसे बचें फेक न्यूज से-

अगर आप बार-बार आने वाली फेक न्यूज से परेशान हैं, तो सबसे पहले ऐसी न्यूज को अनदेखा करना शुरू करें। अगर आप किसी ऐसे ग्रुप से जुड़े हैं, जो इस तरह की न्यूज शेयर करते हैं, तो उनसे अलग होना ही आपके लिए बेहतर होगा। इसके अलावा अगर वॉट्सएप ग्रुप में आप इस फेक न्यूज की परेशानी से गुजर रहे हैं, तो जागरुकता फैलाएं और लोगों को भी बताएं कि फेक न्यूज से कैसे बचा जाए।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज



English summary
if you are a social media or smartphone user and upset with fake news, here is the few tips to spot viral fake news. for more detail read in hindi.
Please Wait while comments are loading...
इस बार रक्षा बंधन पर लग रहा है चंद्रग्रहण, कुंवारे भाई हो जाए सावधान
इस बार रक्षा बंधन पर लग रहा है चंद्रग्रहण, कुंवारे भाई हो जाए सावधान
जियो की एंट्री के बाद अब भारत में बचेंगी सिर्फ 4 टेलीकॉम कंपनी!
जियो की एंट्री के बाद अब भारत में बचेंगी सिर्फ 4 टेलीकॉम कंपनी!
Opinion Poll

Social Counting