घर लेने के लिए पैसे नहीं, कार में सो जाती है फेसबुक कर्मी

Posted By: Gizbot staff
    How to Stop seeing iritating posts on facebook? (Hindi)

    सिलिकॉन वैली में घर ले पाने में असमर्थ फेसबुक की एक महिला कर्मी अपनी कार में ही रात बिताने को मजबूर है। यह कर्मी कंपनी में ठेके पर काम करती है। डेली मेल की रपट के अनुसार, पार्शा नामक इस महिला के बाल, कार और कुत्ता सभी गुलाबी रंग के हैं, जिसके कारण इसे पिंकी नाम से पुकारा जाता है। इस महिला के ऊपर पहले से ही शिक्षा और चिकित्सा संबंधी कर्ज का बोझ लदा हुआ है।

    पढ़ें: इन कोड्स से जानें कौन कर रहा है आपको ट्रैक

    घर लेने के लिए पैसे नहीं, कार में सो जाती है फेसबुक कर्मी

    रपट के अनुसार, 'पिंकी' पार्शा ने कहा है, "मैं हमेशा लोगों से कहती हूं कि किसी ने जो कुछ पाया और बाहर की दुनिया में आप जो देखते हैं, उसे देखना बंद करो। सिलिकॉन वैली बिजनेस जर्नल के अनुसार, उत्तरी कैलिफोर्निया के पास में एक-बेडरूम के घर का औसत किराया 2,300 डॉलर प्रति माह है। दो बच्चों की मां पार्शा इसे वहन नहीं कर सकती।

    इसलिए, वह अपनी कार में रहती है और उसने अपनी इस परिस्थिति के बारे में अभी तक अपने सहकर्मियो को नहीं बताया है। उसे डर है कि यदि उसने इस बारे में किसी को बताया तो उसके कार्यस्थल पर उसे नीचा देखना पड़ सकता है।

    घर लेने के लिए पैसे नहीं, कार में सो जाती है फेसबुक कर्मी

    पार्शा ने कहा, "उन्हें यह जानकर अचम्भा होगा कि मैं इस तरह गुजर-बसर कर रही हूं, क्योंकि वे मुझे कार्यस्थल पर मुस्कराता हुआ देखना चाहेंगे और वे चाहेंगे कि मैं खुश दिखूं, सामान्य दिखूं और साफ-सुथरी दिखूं। लेकिन, अब उसका इरादा अपनी स्थिति लोगों के सामने लाने का है। इस उद्देश्य से कि सिलिकॉन वैली के आसपास के इलाके में अधिक किराए पर बहस शुरू हो।

    पढ़ें: यहां है जियोफोन से जुड़ी एक्सक्लूसिव जानकारी

    उसने कहा, "मुझे लगता है कि कंपनियों को इस मुद्दे पर विचार करना चाहिए कि जो वेतन वे कर्मचारियों को दे रहीं हैं, क्या वह कर्मचारियों को गुजारे के लिए पर्याप्त है? फेसबुक के अनुसार, कंपनी इस बात को समझती है और मानती है कि समाज के गरीब लोगों पर जीवन यापन की उच्च लागत का बोझा है।

    पढ़ें: 20 लाख रुपए में बिकी मारियो गेम की ये "रेयर कॉपी"

    फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा है, "मेनलो पार्क मुख्यालय के पास रहने वाले समुदायों की सहायता कर फेसबुक सक्रिय और जिम्मेदार पड़ोसी की अपनी भूमिका के प्रति बचनबद्ध है।"

    रपट के अनुसार, फेसबुक ने सामुदायिक समूहों, परोपकार और कंपनियों को, अगले कुछ महीनों और वर्षो के दौरान क्षेत्रीय प्रभाव बढ़ाने के किए जाने वाले एक प्रयास में योगदान के लिए प्रारंभिक तौर पर दो करोड़ डॉलर का निवेश करने का वादा किया है।

    पार्शा के जीवन यापन की स्थिति के बारे में पूछे जाने पर फेसबुक ने कहा कि वह कंपनी की कर्मचारी नहीं हैं, बल्कि वह कंपनी से जुड़े एक ठेकेदार के लिए काम करती हैं।

    Read more about:
    English summary
    Two years ago, a Silicon Valley product designer named Kurt Varner saved a ton of money and learned a lot about life by living in his car for four months.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more