अब ये है 80 परसेंट इंडियन के रिचार्ज करने का तरीका !

Written By:

स्मार्टफोन यूजर्स की सबसे बड़ी जरूरत होती है, फोन का रिचार्ज। फोन रिचार्ज करने के लिए यूजर्स अपनी सुविधा और पसंद के अनुसार विकल्प का यूज करते हैं। हाल ही में इंडियन स्मार्टफोन यूजर्स के रिचार्ज के तरीके को लेकर सर्वे किया गया, जिसमें लोगों की रिचार्ज हैबिट सामने आईं। रिपोर्ट में पता चला कि लोग ऐप्स और वेबसाइट से लेकर शॉप पर जाकर भी रिचार्ज कराते हैं।

पढ़ें- यूजर को मुसीबत में डाल सकती हैं, स्मार्टफोन से जुड़ी ये 6 बातें

अब ये है 80 परसेंट इंडियन के रिचार्ज करने का तरीका !

पढ़ें- हर रोज ऐसे-ऐसे स्पैम कॉल रिसीव करते हैं इंडियन स्मार्टफोन यूजर !

लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज

सर्वे पर आधारित है रिपोर्ट-

बता दें कि लोगों की मोबाइल रिचार्ज हैबिट जानने के लिए सर्वे और रिपोर्ट तैयार की गई थी। ये रिपोर्ट मोबाइल सर्विस एग्रीगेटर 10डिजी ने दिल्ली-एनसीआर के डेटा के आधार पर बनाई है।

मोबाइल एप्स को प्राथमिकता-

सर्वे में सामने आई रिपोर्ट के अनुसार, करीब 57 फीसदी टेलिकॉम सर्विसेस के लिए यूजर्स लोकल मोबाइल रिटेलर्स और कंपनी स्टोर्स के बजाय मोबाइल एप्स को ज्यादा प्राथमिकता दे रहे हैं।

खत्म हो रहे हैं रिटेल रिचार्ज स्टोर्स-

इस सर्वे में सामने आया कि अब सिर्फ 20 प्रतिशत लोग ही रिटेल्स रिचार्ज स्टोर्स पर जाकर रिचार्ज करा रहे हैं। रिचार्ज सर्विसेस के लिए यूजर्स का ध्यान लोकल मोबाइल रिटेलर्स और कंपनी स्टोर्स से हट रहा है। इसकी एक वजह ये भी है कि लोगों को रिचार्ज कराने के लिए स्टोर्स तक जाना होता है।

दूसरी प्राथमिकता है वेबसाइट-

बता दें कि सबसे ज्यादा यानी 57 फीसदी लोग रिचार्ज के लिए ऐप का सहारा लेते हैं, वहीं 23 परसेंट यूजर्स की दूसरी प्राथमिकता वेबसाइट है। ऐप के बाद सबसे ज्यादा लोग वेबसाइट के जरिए रिचार्ज करते हैं।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट-

10डिजी के मैनेजिंग डायरेक्टर ओजायर यासीन ने कहा कि ऑनलाइन और मोबाइल कनेक्टिविटी में तेजी से हो रही बढ़ोतरी के चलते टेलिकॉम सर्विसेस के लिए ऐप्स को ज्यादा अपनाया जा रहा है। टेलिकॉम सर्विसेस की होम डिलीवरी काफी आसान रास्ता है। इससे यूजर्स को सर्विसेस के लिए कहीं बाहर नहीं जाना होगा है।

ये है वजह-

बता दें कि इस रिपोर्ट में रिचार्ज हैबिट बदलने की वजह भी सामने आई। रिपोर्ट में कहा गया कि मोबाइल एप्स टेलिकॉम सर्विसेस पर कई डिस्काउंट भी देते हैं, जो यूजर्स के ऐप आकर्षण की एक बड़ी वजह है। इसके अलावा यूजर्स को प्रीपेड रिचार्ज ऑनलाइन तरीके यानि ऐप्स से काम करना ज्यादा आसान लगता है। क्योंकि उन्हें भुगतान के लिए स्टोर्स नहीं जाना होता है और घर बैठे ही भुगतान या रिचार्ज किया सकता है।

ऐसे उबर सकते हैं स्टोर्स-

अधिकारियों का कहना है कि लोगों की बदलती आदत का कारण है, कि वह अब रिचार्ज के लिए स्टोर्स तक नहीं जाना चाहते हैं, अगर मोबाइल रिटेलर्स और कंपनी स्टोर्स बेहतर सर्विस के लिए ऑनलाइन तरीकों का इस्तेमाल करेंगे तो उन्हें उभरने में मदद मिलेगी। इसके अलावा कंपनी होम डिलिवरी विकल्प भी उपयोग कर सकती हैं।


लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्‍दी गिज़बोट फेसबुक पेज



English summary
according to a latest survey customers found it easier to get a recharge done for prepaid services using online methods like mobile apps and websites. for more detail read in hindi.
Please Wait while comments are loading...
बैंक खातों को आधार से जोड़ने वाली खबर पर RBI का बयान
बैंक खातों को आधार से जोड़ने वाली खबर पर RBI का बयान
 चर्चा में संजय दत्त की बेटी त्रिशाला, वही कर बैठीं जिससे पापा ने कई बार रोका
चर्चा में संजय दत्त की बेटी त्रिशाला, वही कर बैठीं जिससे पापा ने कई बार रोका
Opinion Poll

Social Counting