4जी नेटवर्क वाला पहला राज्य होगा पंजाब

Written By:

रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमुख मुकेश अंबानी ने बुधवार को घोषणा की कि सभी गांवों व स्कूलों में 4जी ब्रॉडबैंड सुविधा से युक्त पंजाब देश का इकलौता राज्य होगा। उन्होंने कहा कि इससे प्रदेश के सभी 1,617 कृषि उपज विपणन केंद्र आपस में जुड़ जाएंगे, जो साल में दो बार एशिया की सबसे बड़ी खरीद प्रक्रिया से निपटता है। अंबानी यहां दो दिवसीय प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन 2015 में हिस्सा लेने आए थे, जो बुधवार से शुरू हुआ।

पढ़ें: इनफोकस का बजट स्मार्टफोन M260 लॉन्च

4जी नेटवर्क वाला पहला राज्य होगा पंजाब

प्रदेश में उद्योग के लिए बेहतर माहौल बनाने में योगदान के लिए उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल की प्रशंसा करते हुए अंबानी ने कहा, "उप मुख्यमंत्री ने न सिर्फ हमारे सुझावों को स्वीकार किया, बल्कि उस पर अमल भी किया। नेक्स्ट वेल्थ एंटरप्रेन्यूर्स के संस्थापक व प्रबंध निदेशक श्रीधर मिट्टा ने कहा कि उच्च कौशल वाले कंप्यूटर शिक्षित मानव संसाधन के साथ पंजाब में अगले दो साल के दौरान सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) के क्षेत्र में दो लाख रोजगारों का सृजन करने की क्षमता है।

पढ़ें: जब लड़की के सवाल का जवाब नहीं दे पाए जुकरबर्ग!

उन्होंने कहा कि 4जी नेटवर्क पंजाब के ग्रामीण इलाकों की सूरत बदलने वाला साबित होगा, क्योंकि अगले दो साल में गांव का हर घर एक आईटी मॉडयूल बन जाएगा। उन्होंने कहा कि पंजाबियों ने हमेशा से ही नई प्रौद्योगिकी को स्वीकार किया है और वे निश्चित तौर पर नए आईटी प्लेटफॉर्म का निर्माण करेंगे। साइबर मीडिया समूह के मुख्य प्रबंध निदेशक प्रदीप गुप्ता ने कहा कि पंजाब देश का उभरता सूचना प्रौद्योगिकी केंद्र है।

English summary
Reliance Industries chairman Mukesh Ambani on Wednesday announced making Punjab the only state in the country with all villages and schools linked through the 4G broadband network.
Please Wait while comments are loading...
बुलेट ट्रेन को हिंदी में क्‍या कहते हैं, इस सवाल पर गुस्‍सा गए अरुण जेटली
बुलेट ट्रेन को हिंदी में क्‍या कहते हैं, इस सवाल पर गुस्‍सा गए अरुण जेटली
JNU में भी मां दुर्गा को कहा गया था 'सेक्स वर्कर', जिसने हनीमून मनाने के बाद महिषासुर को मारा था
JNU में भी मां दुर्गा को कहा गया था 'सेक्स वर्कर', जिसने हनीमून मनाने के बाद महिषासुर को मारा था
Opinion Poll

Social Counting