कौन सी स्क्रीन है बेस्ट TFT, IPS और Super AMOLED, यहां जानें

By Arpit Shukla

    अगर आप स्मार्टफोन यूजर हैं, तो फोन की डिसप्ले स्क्रीन के बारे में तो जानते ही होंगे। इन डिसप्ले स्क्रीन का इस्तेमाल लैपटॉप से लेकर मोबाइल और कंप्यूटर जैसे कई डिवाइस में होता है।

    समय के साथ में इन स्क्रीन में बदलाव हुआ है और ये पहले से बेहतर हुए हैं। अब कंपनियां ऐसी डिसप्ले स्क्रीन बनाने पर फोकस कर रही हैं, जिसे स्क्रैच और टूटने फूटने से बचाया जा सके।

    कौन सी स्क्रीन है बेस्ट TFT, IPS और Super AMOLED, यहां जानें

    मार्केट में इस समय तीन तरह की डिसप्ले स्क्रीन मौजूद है, टीएफटी, आईपीएस और सुपर एमोलेड। आप जब भी स्मार्टफोन या लैपटॉप खरीदने जाते हैं, तो दुकानदार आपको इन डिसप्ले के बारे में बताता है।

    कई बार लोगों को ये पता ही नहीं होता है, कि कौन सी स्क्रीन बेस्ट है और वो कौन सा मोबाइल खरीदें।

    Google Android Oreo Go edition Features (Hindi)

    यहां हम आपको टीएफटी, आईपीएस और सुपर एमोलेड डिसप्ले स्क्रीन के बारे में बताने जा रहे हैं और ये भी जानेंगे कि कौन सी स्क्रीन सबसे बेहतर है।

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्<200d>दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    सबसे पहले जानते हैं इनके फुलफॉर्म-

    TFT का फुलफॉर्म- थिन फिल्म ट्रांजिस्टर (Thin Film Transistor)
    IPS का फुलफॉर्म- इन प्लेन स्विचिंग (In-Plane Switching)
    Amoled का फुलफॉर्म- एक्टिव मैट्रिक्स ऑर्गेनिक लाइट इमिटिंग (Active-Matrix Organic Light-Emitting)

    टीएफटी डिसप्ले-

    शुरुआती फोन में टीएफटी डिसप्ले देखने को मिलती है। ज्यादातर सस्ते और एंट्री लेवल फोन में टीएफटी डिसप्ले होता है। ये डिस्प्ले काफी सस्ती होती है, लेकिन क्वालिटी में ये अच्छी नहीं होती है। इसीलिए अगर आप कोई सस्ता फोन खरीदने का सोच रहे हैं, लेकिन उसमें टीएफटी डिसप्ले है, तो उसे न खरीदें।

    आईपीएस एलसीडी डिसप्ले-

    वैसे तो आईपीएस एलसीडी और सुपर एमोलेड डिसप्ले दोनों ही बढ़िया होती हैं, लेकिन फिर भी दोनों में फर्क होता है। आईपीएस एलसीडी डिसप्ले थोड़ी मोटी होती है, वहीं सुपर एमोलेड डिसप्ले काफी पतली होती है और ये फोन भी पतले होते हैं। आईपीएस सस्ती डिसप्ले होती है और ये मिड बजट स्मार्टफोन में होती है। इस डिसप्ले क्वालिटी में सभी कलर आपको नैचुरल नजर आते है। न सिर्फ रूम लाइट बल्कि सन लाइट में भी IPS LCD में कलर अच्छे से नजर आते हैं, क्योंकिक्योंकि IPS LED में बेक लाइट होती है जो पूरी स्क्रीन को ऑन रखती है। आईपीएस एलसीडी में फोन की बैटरी जल्दी डाउन होती है, क्योंकि जब फोन की स्क्रीन ऑन होती है तो आईपीएस एलसीडी सारी ऑन होती है जिस से को ज्यादा पावर लेती है, वहीं सुपर एमोलेड डिसप्ले में ऐसा नहीं होता है।

    सुपर एमोलेड डिसप्ले-

    सुपर एमोलेड डिसप्ले ज्यादातर हाई बजट फोन में आती है। इसीलिए सुपर एमोलेड डिसप्ले के लिए आपको महंगा फोन खरीदना होगा। सुपर एमोलेड डिसप्ले में कलर आखों के लिए अच्छे होते हैं और पिक्चर में मौजूद सभी कलर नैचुरल नजर आते हैं। सुपर अमोलेड में आईपीएस एलसीडी से ज्यादा चमक होती है। सुपर एमोलेड स्क्रीन के साथ आने वाले स्मार्टफोन की बैटरी लाइफ अच्छी होती है, क्योंकि फोन की सिर्फ उतनी ही स्क्रीन ऑन होती है, जितने में कलर नजर आएं। जैसे अगर स्क्रीन में डार्क कलर का इमेज है, तो फोन बहुत कम पावर लेगा। अगर आप बजट में फोन खऱीदने का सोच रहे हैं, तो कोशिश करें कि वही फोन खऱीदें जिसमें आईपीएस एलसीडी डिसप्ले हो।


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    English summary
    The screen size is one of the first things that a phone buyer looks for in a new phone. check out Different Types of some popular Mobile screens.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more