30,336 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा एस्टेरॉयड : NASA

|
30,336 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा एस्टेरॉयड

NASA : हालांकि पृथ्वी के पास अब नासा के डार्ट टेस्ट से दुनिया को खत्म करने वाले पोटेंशियल एस्टेरॉयड के खिलाफ एक प्लेनेट डिफेंस सिस्टम है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि एस्टेरॉयड फिर कभी प्लेनेट पर हमला नहीं करेंगे। दरअसल, ऐस्टरॉइड पहले भी कई बार धरती से टकरा चुके हैं और ऐसा दोबारा से भी हो सकता है। जबकि उनमें से ज्यादातर पृथ्वी को याद करते हैं, खतरा बना रहता है और यहीं पर नासा जैसी अंतरिक्ष एजेंसियों के लिए यह जरूरी हो जाता है कि वे सभी उड़ने वाली चीजों को ट्रैक करें जो मानवता (Humanity) को चिंतित करने के लिए काफी बड़ी हो। यह जिम्मेदारी नासा के प्लैनेटरी डिफेंस कोऑर्डिनेशन ऑफिस की है जो नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट्स (NEO) पर नजर रखता है और आने वाले खतरनाक चीजों का मैसेज मिलने पर अलर्ट करता है।

 

अब, इसने चेतावनी दी है कि एक Giant Asteroid पृथ्वी की ओर तेजी बढ़ रहा है।

Asteroid 2022 VB2 डिटेल्स

नासा के प्लैनेटरी डिफेंस को ऑर्डिनेशन ऑफिस ने एस्टेरॉयड 2022 वीबी2 नाम के एस्टेरॉयड को लेकर अलर्ट जारी किया है। 100 फीट चौड़ा यह क्षुद्रग्रह आज, 29 नवंबर को 3.3 मिलियन किलोमीटर की दूरी पर पृथ्वी के करीब से गुजरने की उम्मीद है। क्षुद्रग्रह पहले से ही पृथ्वी की ओर बढ़ रहा है, 30,336 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आ रहा है। हालांकि इस एस्टेरॉयड के जल्द ही पृथ्वी से टकराने की उम्मीद नहीं है, ग्रह के गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र के साथ बातचीत के कारण इसके रास्ते में थोड़ा सा बदलाव देखने को मिला है जिसके चलते प्रक्षेपवक्र को बदल सकता है।

 
30,336 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा एस्टेरॉयड

यह एस्टेरॉयड अपोलो ग्रुप से रिलेटेड है , जो 1930 के दशक में जर्मन खगोलशास्त्री कार्ल रेनमुथ द्वारा खोजे गए विशाल 1862 अपोलो एस्टेरॉयड के नाम पर पृथ्वी के निकट एस्टेरॉयड का एक ग्रुप है।

क्या आप को पता है?

NASA ने अब खुलासा किया है कि कुछ दिन पहले ही एक एस्टेरॉयड पृथ्वी से टकराया था! यह एस्टेरॉयड सभी नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट (NEO) सर्विलांस दूरबीनों से चूक गया था और प्रभाव से कुछ ही घंटे पहले खोजा गया था। क्षुद्रग्रह को सबसे पहले नासा के कैटालिना स्काई सर्वे द्वारा देखा गया था और इसके बाद छोटे ग्रह केंद्र को टिप्पणियों की सूचना दी गई थी।

नासा के मुताबिक, ग्रह के वायुमंडल में प्रवेश करने और ओंटारियो झील के दक्षिणी तट पर छोटे उल्कापिंडों के बिखरने पर एस्टेरॉयड के जलने की पॉसिबिलिटी है।

 
Best Mobiles in India

English summary
NASA has now revealed that an asteroid hit the Earth just a few days ago! This asteroid was missed by all Near-Earth Object (NEO) surveillance telescopes and was discovered only hours before impact.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X