48,902 रुपए में खरीद रहे हैं 15,408 रुपए का स्‍मार्टफोन

Posted By:

    प्रमुख स्मार्टफोन निर्माता कंपनी ऐपल का आईफोन 6एस प्लस बाजार में 749 डॉलर में उपलब्ध है लेकिन एक शोध संस्था ने दावा पेश किया है कि ऐपल का यह मोबाइल डेवलप करने में मात्र 236 डॉलर का ही खर्च आया है।

    पढ़ें: ये क्या एक्स-गूगल कर्मचारी ने 782 रुपए में खरीद लिया

    आपको बता दें कि आईएचएस टेक्नोलॉजी ने टियरडाउन रिसर्च से अनुमान लगाया है कि ऐपल आईफोन 6एस प्लस विकसित करने में लगभग 236 डॉलर व्यय रहा होगा। इस शोध कंपनी द्वारा ऐपल 6एस को खोला गया। उसके प्रत्येक कंम्पोनेंट का अध्ययन किया गया।

    पढ़ें: ये लेडीज टॉप करारा जवाब देगा घूरने वाले मर्दों को

    48,902 रुपए में खरीद रहे हैं 15,408 रुपए का स्‍मार्टफोन

    बाजार में उपलब्ध उस इलेक्ट्रॉनिक पुर्जों के मूल्य को ध्यान में रखकर आईफोन 6एस प्लस के अंदर उपस्थित कलपुर्जों की वेल्यू का अनुमान लगाया गया। अंत में अनुसंधान संस्थान ने निष्कर्ष निकाला कि ऐपल के इस मोबाइल को बनाने में लगभग 236 डॉलर लगे होंगे जो बाजार मूल्य के एक तिहाई से भी थोड़ा कम है।

    टियरडाउन ने आईफोन 6एस का तो इस प्रकार का कोई विवरण नहीं दिया पर आईएचएस के अनुमान की माने तो ऐपल को इसमें आईफोन 6एस प्लस की अपेक्षा 20 डॉलर कम अर्थात् 211.50 डॉलर खर्च उठाना पड़ा हो सकता है। एंड्र्यू रासविलर (रिसर्च डायरेक्टर , आईएचएस) के अनुसार इस प्रकार के अध्ययनों की थोड़ी लिमिटेशन्स भी होती है चूंकि इसमें शिपिंग, स्टोरेज, रिसर्च एंड डेवलपमेंट और मार्केटिंग में होने वाले व्ययों को सम्मिलित नहीं किया जाता है।

    पढ़ें: क्‍या आप भी लगाना चाहेंगे अपने फोन में ये अजीबो-गरीब चीजें

    आईएचएस के अनुमान से हिसाब के मोबाइल की स्टोरेज को लिया जाए तो बेहद ही सस्ता है। रिसर्च की माने तो ऐपल द्वारा टच डिस्प्ले हेतु 52.50 डॉलर व्यय किया गया है। कंपनी द्वारा 3डी टच टेक्नोलॉजी को कामयाब करने के लिए स्क्रीन पर तीसरी लेयर जोड़ी गई है इसपर लगभग 10 डॉलर और लगे होंने की संभावना है। यह शोध संस्थाओं के अनुमान हैं और अभी तक ऐपल ने इस विवरण पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

    Read more about:
    English summary
    We’ve reached the part of the marathon new-iPhone news cycle in which tech bloggers post in-depth reviews of the new device, analysts speculate about how important it is that this year’s launch weekend was bigger than last year’s.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more