आपकी इन गलतियों से होता है फोन में वायरस अटैक !

By Neha
|

स्मार्टफोन यूजर्स अक्सर फोन में वायरस अटैक की परेशानी का सामना करते हैं। कई बार यूजर्स ये भी कहते हैं कि उन्होंने कुछ भी डाउनलोड नहीं किया फिर वायरस कैसे फोन में आ गया। फोन में वायरस सिर्फ किसी फाइल को डाउनलोड करने के अलावा और भी कई तरीकों से पहुंच सकता है। इस वायरस के जरिए यूजर्स के फोन में मौजूद डेटा व जानकारी हैक हो जाती है या नष्ट भी हो जाती है।

 
आपकी इन गलतियों से होता है फोन में वायरस अटैक !

पढ़ें- जानिए कैसे आपके हजारों रुपए बचाएगा ये छोटा सा ऐप

इंटरनेट पर हर सैकेंड ढेरों नए वायरस पैदा होते हैं, जिनमें से कई अपने आप आपके फोन में पहुंच जाते हैं। कई बार यूजर्स अनजाने में ही किसी ऐसी साइट या ऐप का इस्तेमाल कर लेते हैं, जिसमें वायरस मौजूद होता है। पब्लिक वाईफाई का इस्तेमाल भी यूजर्स को महंगा पड़ जाता है। वायरस अटैक फोन की स्पीड कम कर देता है, जिससे ये हैंग होना शुरू हो जाता है। यहां हम आपको कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप फोन में वायरस के खतरे से बच सकते हैं।

पढ़ें- फेक ऐप हो सकता है काफी खतरनाक, ऐसे करें पहचान

एंटी वायरस-

एंटी वायरस-

कंप्यूटर और लैपटॉप की तरह स्मार्टफोन के लिए भी एंटी वायरस की जरूरत होती है क्योंकि आपके स्मार्टफोन में भी आपका बहुत सा पर्सनल डेटा मौजूद होता है। इस समय फोन की सिक्युरिटी के लिए ढेरों एंटी वायरस मौजूद हैं, जिनकी मदद से आप वायरस अटैक से बच सकते हैं। फोन को वायरस से बचाने के लिए बेस्ट ऑप्शन है एंटी वायरस एप। इनके जरिए फोन में बनने वाली बेकार फाइल क्लियर होती रहेंगी। एंटी वायरस से फोन को स्कैन करते रहें।

ब्लूटूथ ऑफ-
 

ब्लूटूथ ऑफ-

कुछ यूजर्स फोन में एक बार ब्लूटूथ ऑन कर उसे ऑन ही छोड़ देते हैं। हर समय ब्लूटूथ का ऑन रहना फोन में वायरस के खतरे को बढ़ा देता है। ब्लूटूथ के जरिए कोई भी अपने मोबाइल के जरिए आपके मोबाइल में जाकर डिटेल जान सकता है। इसीलिए इसे तभी ऑन करें जब इसकी जरूरत हो और काम पूरा होने के बाद इस तुरंत ऑफ कर दें। फोन का ब्लूटूथ तभी ऑन करें जब जरूरत हो और इसके बाद तुरंत ऑफ कर दें।

पॉपअप ऑप्शन-

पॉपअप ऑप्शन-

इंटरनेट पर अक्सर मूवी या कुछ सर्च करते समय क्लिक करने पर अचानक से पॉप अप खुल जाता है। इन पर क्लिक करते ही फोन में आसानी से वायरस अटैक हो सकता है। इसीलिए इन्हें ब्लॉक करना सबसे अच्छा विकल्प है। इसके लिए स्मार्टफोन के ब्राउजर की सेटिंग्स में जाएं। जहां साइट सेटिंग में आपको पॉप अप ब्लॉक करने का ऑप्शन मिलेगा। उसे ब्लॉक कर दें।

पब्लिक वाई-फाई-

पब्लिक वाई-फाई-

अपने फोन में मौजूद डेटा बचाने के लिए अक्सर लोग पब्लिक वाईफाई का यूज करने लगते हैं। बता दें कि ओपेन वाई फाई में वायरस आने का खतरा बहुत ज्यादा होता है। इसीलिए घर या ऑफिस से बाहर निकलते ही वाईफाई को ऑफ कर दें। अगर किसी अनजान सोर्स से वाईफाई नेटवर्क आ रहा हो, तो उससे भी फोन कनेक्ट न करें। हो सकता है वो हैकर्स की लोगों को फंसाने के लिए चाल हो।

ईमेल वायरस-

ईमेल वायरस-

वायरस आपके फोन में घुसने के लिए कई बार ईमेल का भी सहारा लेते हैं। ऐसे में आपको वायरस मेल्स की पहचान होनी चाहिए। जब आपके ईमेल बॉक्स में कोई ऐसा ईमेल आए, जिसका मेल एड्रेस समझ न आए या उसका सब्जेक्ट कुछ अलग है, तो उस ईमेल को न खोलें। वह वायरस हो सकता है जो आपके ईमेल आकाउंट का डाटा चोरी कर सकता है। यदि आप फोन से ऑन लाइन बैंकिंग का उपयोग करते हैं तो वायरस बैंक अकाउंट तक को हैक कर सकता है।

 
Best Mobiles in India

Read more about:
English summary
here are few tips which can help you to protect your mobile from an attack by viruses or malware. for more detail read in hindi.

बेस्‍ट फोन

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X