24 घंटे कभी भी मोबाइल पर ले मुफ्त की सलाह

Written By:

तकनीकी विकास के साथ भारत ने स्वास्थ्य सेवाओं के मामले में भी काफी तेजी से विकास किया है। इसी क्रम में मोबाइल स्वास्थ्य सेवाएं एक विलक्षण पहल है। 'लाइब्रेट' भारत का पहला और सबसे बड़ा मोबाइल हेल्थकेयर कम्युनिकेशन प्लेटफार्म है, जो उपयोगकर्ताओं और डॉक्टरों को मोबाइल फोन के जरिए बात करने की सुविधा देता है।

पढ़ें: सोलर पॉवर से चलने वाले नन्‍हे घर जिन्‍हें कहीं भी उठा कर रख सकते हैं

24 घंटे कभी भी मोबाइल पर ले मुफ्त की सलाह

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा तय मानक के हिसाब से भारत में डॉक्टर और मरीज का अनुपात 0.7: 1000 है, जो चीन के (1.9), ब्रिटेन के (2.8) और अमेरिका (2.5) डॉक्टर प्रति 1000 के अनुपात से बेहद कम है। इन हालात के मद्देनजर इस बात पर हैरानी नहीं होती कि 133 विकासशील देशों में भारत मरीज-डॉक्टर अनुपात के मामले में 67वें स्थान पर आता है। इस हालत से निपटने के लिए डिजिटल स्वास्थ्य सेवाएं एक विलक्षण पहल है।

24 घंटे कभी भी मोबाइल पर ले मुफ्त की सलाह

इसी के तहत एमहेल्थ के जरिए मूलभूत सुविधाएं आम लोगों को उपलब्ध करवाई जा रही हैं। लाइब्रेट भारत का पहला और सबसे बड़ा मोबाइल हेल्थकेयर कम्युनिकेशन एंड डिलवरी प्लेटफार्म है जो उपयोगकर्ताओं और डॉक्टरों को मोबाइल फोन के जरिए बात करने की सुविधा देता है।

पढ़ें: 5,000 रुपए के अंदर ये हैं बेस्‍ट एंड्रायड स्‍मार्टफोन

मरीज स्वास्थ्य विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के 80,000 डॉक्टरों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों के समूह से मुफ्त में अपने सवाल पूछ सकते हैं। वह अपनी जरूरत के अनुसार किसी डॉक्टर का चयन करके उनकी निर्धारित फीस अदा करके उनसे विस्तापर्वूक और गहन सलाह भी ले सकते हैं। इसके साथ ही मोबाइल उपयोगकर्ता डॉक्टरों द्वारा लोगों को स्वस्थ और सेहतमंद रखने लिए दी जाने वाली विभिन्न जानकारियां भी पढ़ सकते हैं।

देश में डब्लयूएचओ के तय मानकों के विपरीत मरीजों और डॉक्टरों का अनुपात बहुत कम है। लेकिन तकनीकी विकास और इसके स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में फैलाव की वजह से यह दूरी कम हो रही है। एमहेल्थ इस कमी को दूर करने में और भी मदद करेगा। लाइब्रेट के सह-संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी सौरभ अरोड़ा ने कहा, "लाइब्रेट ऐप की मदद से हम डॉक्टरों को ज्यादा मरीजों को देखने का और उन्हें खाली समय में आमदनी अर्जित करने का मौका दे रहे हैं।

पढ़ें: 10000 रुपए के अंदर ये हैं बेस्‍ट कैमरा स्‍मार्टफोन

24 घंटे कभी भी मोबाइल पर ले मुफ्त की सलाह

इस ऐप से वह एक ही समय में अनेक स्थानों पर उपलब्ध हो सकते हैं। इस तरह तकनीक बेहतरीन ढंग से स्वास्थ्य सेवाओं को बढ़ावा दे रही है और भविष्य इसी पर निर्भर है।" अरोड़ा मानते हैं कि एमहेल्थ लोगों के लिए स्वास्थय विशेषज्ञों से बात करना आसान बना देगी, इसके साथ ही डॉक्टरों को ढूंढ़ना और उनसे समय लेना भी आसान हो जाएगा। इस तरह पूरे माहौल को ही बदलते हुए स्वास्थय सेवाएं प्राप्त करना बेहद आसान और किफायती हो जाएगा। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रों में लोग समय की कमी या छोटी-मोटी बीमारियों के लिए डॉक्टर के पास नहीं जाना चाहते हैं। कुछ लोग तो अपनी मर्जी से दवाएं ले लेते हैं, यह ऐप इस समस्या को हल करने में भी मदद करेगा।

English summary
Getting health tips and information on diseases is now just a call away as the government today launched a 24-hour toll free helpline to enable people to get details about various health issues, policies and programmes.
Please Wait while comments are loading...
सितंबर की शुरुआत में आएगा 200 रुपए का नोट, होंगे ये 2 फायदे
सितंबर की शुरुआत में आएगा 200 रुपए का नोट, होंगे ये 2 फायदे
सबसे ज्यादा कमाते हैं शाहरुख-सलमान, ये रही टॉप-10 की लिस्ट
सबसे ज्यादा कमाते हैं शाहरुख-सलमान, ये रही टॉप-10 की लिस्ट
Opinion Poll

Social Counting