नौकरी चाहिए तो सोशल मीडिया में रहें एक्‍टिव

    सोशल मीडिया आज न सिर्फ भारत में बल्‍कि पूरे विश्‍व में एक उभरता हुआ बाजार हैं। लेकिन सोशल मीडिया को लेकर लोगों के मन में कई मिथ यानी गलतफहमी हैं। वहीं अब तो कई कार्पोरेट कंपनियों सोशल नेटवर्किंग की मदद से नई ज्‍वाइनिंग कर रहीं हैं।

    पढ़ें: हजारों नहीं लाखों का है ये आईफोन 5

    दिल्‍ली की एक एडवरटाइजिंग कपंनी में काम कर रहे सुमित के अनुसार उन्‍हें एक दिन अचानक एक कंपनी से कॉल आया, कंपनी की तरफ से उन्‍हें मार्केटिंग की जॉब ऑफर की गई जब वे उस कंपनी में इंटरव्‍यू के लिए गए तो वहां का मैनेजर उनके बारे में सब जानता था यहां तक उसे ये भी पता था कि उन्‍हें खाने में क्‍या अच्‍छा लगता है, उन्‍हें किस फील्‍ड में इंटरेस्‍ट हैं।

     

    बाद में पता चला उनके फेसबुक, ट्विटर से ये सभी जानकारी उनके मैनेजर को मिली थी। इसलिए सोशल मीडिया में एक्‍टिव रहें लेकिन समझदारी के साथ,

    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्<200d>दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    social media is time waste

    जिन लोगों का ये मानना है कि सोशल मीडिया एक टाइम वेस्‍ट हैं वो अपनी सोंच बदल लें क्‍योंकि कार्पोरेट जगत में अब ज्‍यादातर कंपनियां अपनी कंपनी में नई नियुक्‍तियां सोशल नेटवर्किंग साइटों से ही कर रहीं हैं। इसका सबसे बड़ा कारण है सोशल नेटवर्किंग साइटों से कंपनी ये अंदाजा लगा सकतीं हैं कि जॉब के लिए एप्‍लाई करने वाले का बैकग्राउंड कैसा है।

    I made a LinkedIn profile once. Now recruiters will find me

    काफी लोगों को मैने ये कहते सुना है कि मैने तो लिंक्‍डइन में प्रोफाइल बनाई थी लेकिन मुझे कोई जॉब का ऑफर नहीं मिला। तो दोस्‍तों यहां पर मै आपको बताना चाहूंगा की लिंक्‍डइन में आप अपना प्रोफेशनल नेटर्वक बनाते हैं न कि लिंक्‍डइन में जॉब के लिए एप्‍लाई करते हैं। हां हो सकता है कि कंपनी को आपका प्रोफाइल और काम पसंद आए तो वो आपको कांटेक्‍ट कर लें।

    Twitter is only for celebrities and politicians

    मुझे लगता है ट्विटर को लेकर भारत में काफी लोगों को ये मिथ है कि ये केवल बड़े सेलिब्रेटियों और पॉलीटीशियनों के लिए है लेकिन दोस्‍तों ऐसा नहीं है। ट्विटर हर किसी के लिए है और अगर आप अच्‍छे ट्विट करेंगे तो लोग आपको फॉलो भी करना शुरु कर देंगे। ज्‍यादा फॉलोवर होने का मतलब ये नहीं आप ज्‍यादा ट्विट करें।

    Uploading pictures of my weekend party is just harmless fun

    "कहीं कोई मेरी पार्टी पिक्‍चर न अपलोड कर दें" लड़कियों को इस बात की बेहद चिंता रहती कि कहीं कोई मेरी पिक्‍चर सोशल नेटवर्किंग साइट में न अपलोड कर दें। लेकिन ऐसा तभी होता है जब आप कुछ गलत कर रहे हो। पार्टी वगैरह में साधारण कोई भी व्‍यक्ति किसी दूसरे व्‍यक्ति की तस्‍वीर अपलोड नहीं करता।

    What I read, write, like, buy and recommend is no one's business

    मेरा एकाउंट है मै कुछ भी करुं, ऐसा कहने वाले जरा संभल कर रहें क्‍योंकि सोशल नेटवर्किंग साइट में हर चीज पोस्‍ट नहीं की जा सकती है। जैसे आप कोई भी ऐसी चीज पोस्‍ट नहीं कर सकते जिससे किसी दूसरे की भावनाओं को ठेस पहुंचे। इसलिए अपने दिमाग से ये खयाल निकाल दीजिए कि सोशल नेटवर्किंग साइट में कुछ भी पोस्‍ट किया जा सकता है।


    लेटेस्ट टेक अपडेट पाने के लिए लाइक करें हिन्दी गिज़बोट फेसबुक पेज

    English summary
    Wondering if your social media initiative is providing value to your organization? Justifying the business case for social media is a BIG question.
    Opinion Poll

    पाइए टेक्नालॉजी की दुनिया से जुड़े ताजा अपडेट - Hindi Gizbot

    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Gizbot sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Gizbot website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more